THE ADDA
THE ADDA: Hindi News, Latest News, Breaking News in Hindi, Viral Stories, Indian Political News

जानिए देश की पहली महिला जासूस रजनी के बारे में, सुलझा चुकी हैं अबतक 80 हज़ार से ज़्यादा केस

0 121

अक्सर आपने फ़िल्मों में कई लोगों को जासूसी करते हुए देखा होगा, असल जीवन में भी आप कई जासूसों को जानते होंगे। लेकिन क्या आपने कभी किसी महिला जासूस को देखा है या उसके बारे में सुना है, शायद नहीं सुना होगा। लेकिन आज हम आपको एक ऐसी महिला जासूस के बारे में बताने जा रहे हैं, जो पुरुषों से भी काफ़ी तेज़-तर्रार है। जी हाँ इन्होंने अब तक 80 हज़ार से ज़्यादा केस भी सुलझा दिए हैं। यह सुनकर यक़ीनन आपको हैरानी हो रही होगी। यह मुंबई की रहने वाली हैं। ह्यूमंस ऑफ़ बॉम्बे के फ़ेसबूक पेज पर इन्होंने कई ख़ुलासे किए हैं।

पहला ऑफ़र मिला था चोरी की जाँच करने का:

meet-with-rajani-pandit-country-first-female-detective

रजनी ने इस दौरान अपने सबसे मुश्किल केस के बारे में बताया। इस समय रजनी की कहानी सोशल मीडिया पर काफ़ी तेज़ी से वायरल हो रही है, इस पोस्ट को 30 अक्टूबर को फ़ेसबूक पेज पर साझा किया गया था। अब तक इसपर 23 हज़ार प्रतिक्रिया भी आ चुकी है। बता दें महाराष्ट्र में जन्मी रजनी ख़ुद को देशी शेरलॉक होम्स कहती हैं। रजनी ने बताया कि वह कैसे इस जासूसी के पेशे में आई। रजनी ने बताया कि जब वो कॉलेज में फ़र्स्ट ईयर में थीं, तभी उन्हें कुछ चोरी की जाँच करने का ऑफ़र मिला था।

6 महीने नौकरानी बनकर रहना पड़ा हत्यारे के घर में:

वह हमेशा से ही कुछ नया करने और जानने में विश्वास रखती थीं। रजनी के पिता सीआईडी में थे। वहीं से उन्होंने किसी भी मामले की सघन जाँच करने की सीख मिली। शुरुआत में रजनी ने कई मामले बिना जासूसी के पेशे में आए ही सुलझाए। 22 साल की उम्र में रजनी ने इसे कैरियर के रूप में चुन लिया और कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। शुरुआत में मामले सुलझाने की वजह से रजनी को केस मिलने लगे। एक हत्या के केस को सुलझाने के लिए रजनी को उसी व्यक्ति के घर में नौकरानी बनकर 6 महीने तक घर में रहना पड़ा, जिसके ऊपर हत्या का शक था।

चाक़ू से काट लिया ख़ुद का पैर:

रजनी

यह उनके जीवन का सबसे मुश्किल केस था। एक बार जब वह आवाज़ रिकार्ड करने के लिए रिकार्डर का बटन दबा रही थीं, तभी महिला ने आवाज़ सुन लिया था। इसके बाद महिला ने रजनी को घर से बाहर जाने पर रोक दिया। एक दिन महिला द्वारा हायर किया गया हत्यारा भी उनसे मिलने के लिए आया था। उस समय उन्हें यह अहसास हो रहा था कि उनका भेद खुल चुका है और अगला नम्बर उन्ही का है। इससे बचने और असली हत्यारे को पकड़वाने के लिए रजनी ने अपना पैर चाक़ू से काट लिया था।

पुलिस ने कर लिया हत्यारों को गिरफ़्तार:

कटे हुए हिस्से की पट्टी करवाने के लिए वह घर से बाहर गयी। बाहर निकलते ही सबसे पहले उन्होंने अपने क्लाइंट को फ़ोन करके पुलिस के साथ आने के लिए कहा। इसके बाद हत्यारों को गिरफ़्तार कर लिया गया। फ़ेसबूक पोस्ट पर इस कहानी को पढ़ने के बाद कई लोगों की प्रतिक्रियाएँ आ रही हैं। इस पोस्ट को लोग जमकर लाइक और शेयर भी कर रहे हैं। कई लोगों ने इस पोस्ट पर ख़ूब कमेंट भी किए हैं।


Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More