THE ADDA | Hindi News - Breaking News, Viral Stories, Indian Political News In Hindi

100 की रफ़्तार से आ रही ट्रेन ने छिन ली 60 लोगों की ज़िंदगी, जानिए 10 ख़ास बातें

10-15 सेकेंड में ही घट गयी यह घटना

0 4,592

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

जहाँ एक तरफ़ शुक्रवार को पूरे देश में बड़े धूम-धाम से विजयदशमी का पर्व मनाया जा रहा था, वहीं शुक्रवार की शाम अमृतसर में मातम लेकर आ गयी। बता दें शुक्रवार की शाम को विजयदशमी के मौक़े पर अमृतसर में कुछ ही पल में ख़ुशियाँ मातम में बदल गयी। जालंधर से अमृतसर जा रही ट्रेन की चपेट में आने से 60 लोगों की मौत हो गयी। बताया जा रहा है कि मारे गए लोग उस समय रेल की पटरी पर खड़े होकर रावण दहन का कार्यक्रम देख रहे थे। यह घटना इतनी जल्दी में हो गयी कि किसी को इसके बारे में पता ही नहीं चल पाया।

 

10-15 सेकेंड में ही घट गयी यह घटना:

घटनास्थल पर सन्नाटा पसरा हुआ है। जानकारी के अनुसार शुक्रवार शाम को चौड़ा बाज़ार के जोड़ा फाटक इलाक़े में रेलवे पटरी के नज़दीक रावण का पुतला जलाया जा रहा था। उसी दौरान जालंधर से अमृतसर की तरफ़ जा रही ट्रेन 100 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ़्तार से आई और लोगों को काटते हुए निकल गयी। घटना वाली जगह से ट्रेन को गुज़रने में ज़्यादा से ज़्यादा 10-15 सेकेंड का समय लगा होगा। ट्रेन के वहाँ से गुज़रते ही माहौल बदल गया था। हर तरफ़ चीख़-पुकार मच गयी। पटरी के दोनों तरफ़ 150 मीटर के दायरे में शरीर के कटे अंग बिखरे थे।

 

amritsar-train-accident-in-punjab-60-dead-in-chaurabazaar-during-dussehra-ravan-dahan

घटना के बाद गरमा गयी देश की राजनीति:

इस घटना की वजह से इस समय देश में मातम छाया हुआ है, वहीं इसकी वजह से देश की राजनीति भी काफ़ी गरमा गयी है। सभी लोग पंजाब सरकार पर जमकर निशाना साध रहे हैं। मारे गए लोगों के परिवार वाले सरकार पर इसका आरोप लगा रहे हैं। कई लोग तो इस घटना के ज़िम्मेदार लोगों के ऊपर भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत मुक़दमा दर्ज करने की बात भी कर रहे हैं। आज हम आपको इस घटना से जुड़ी हुई 10 महत्वपूर्ण बातें बताने जा रहे हैं।

घटना से जुड़े 10 बड़ी बातें:

 

*- बता दें इस भयानक हादसे में अब तक 60 लोगों के मारे जानें की पुष्टि हो चुकी है। हालाँकि अभी भी मरने वालों की संख्या में बढ़ोतरी की बात की जा रही है। घटना की वजह से 51 लोग गम्भीर रूप से घायल भी हुए हैं। कइयों की हालत बहुत ही नाज़ुक बनी हुई है।

 

*- कांग्रेस के विधायक नवजोत सिंह सिद्धू इस घटना के बाद पीड़ितों से मिलने के लिए कुछ समय पहले ही गुरुनानक देव अस्पताल पहुँचे हैं। सिद्धू ने अस्पताल में घायलों से मुलाक़ात की और उन्हें सांत्वना दी।

 

*- गुरु नानक देव अस्पताल के मेडिकल ऑफ़िसर ने बताया कि उनके अस्पताल में इलाज के दौरान 20 लोगों की मौत हुई है।

 

*- जानकारी के अनुसार पंजाब में इतनी बड़ी घटना घट गयी है, लेकिन अभी तक पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह घटनास्थल पर नहीं पहुँचे हैं। कल तक कैप्टन अमरिंदर सिंह दिल्ली में थे।

 

*- कई लोग अभी भी अपने परिजनों की तलाश कर रहे हैं। इसके लिए वे घटनास्थल पर जा रहे हैं। इसके लिए रेलवे की तरफ़ से हेल्पलाइन नम्बर भी जारी किया गया है। मनावाला रेलवे स्टेशन 0183-2440024, अमृतसर रेलवे हेल्पलाइन नम्बर- 0183-2223171, 0183-2564485

 

amritsar-train-accident-in-punjab-60-dead-in-chaurabazaar-during-dussehra-ravan-dahan

 

*- रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा शुक्रवार देर रात ही घटनास्थल पर पहुँच गए थे। उन्होंने बताया कि रेलवे को रावण दहन के बारे में कोई जानकारी पहले से नहीं दी गयी थी। इस भयानक घटना के बाद इस रूट की 8 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है। 5 ट्रेनों को डायवर्ट कर दिया गया है। छोटी दूरी की 10 ट्रेनों को शॉर्ट टर्मिनेट कर दिया गया है, जबकि 5 ट्रेनों को शॉर्ट ऑरिजिनेट कर दिया गया है।

 

*- रेल मंत्री ने इस हादसे के बाद अपना अमेरिका का दौरा रद्द कर दिया है। वे अमेरिका से वापस लौट रहे हैं।

 

*- घटना पर रेस्क्यू के लिए पहुँचे ट्रेन पर लोगों ने पत्थरबाज़ी की है। लोग यह आरोप लगा रहे हैं हैं कि प्रशासन घायलों की मदद नहीं कर रही है।

 

*- पंजाब सरकार ने इस घटना में मारने वाले लोगों के परिजनों को 5 लाख मुआवज़ा देने का ऐलान किया है। वहीं केंद्र सरकार ने भी मरने वाले लोगों के परिजनों को 2 लाख रुपए मुआवज़ा देने का ऐलान किया है।

 

*- बता दें पंजाब सरकार ने आज राजकीय शोक का ऐलान किया है। इस भयानक घटना के बाद आज पंजाब में स्कूल, कॉलेज, सरकारी दफ़्तर सभी बंद रहेंगे।


इसे भी पढ़ें:-

Loading...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Loading...

- Advertisement -

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More