THE ADDA | Hindi News - Breaking News, Viral Stories, Indian Political News In Hindi

सीएम योगी ने कहा पेपर लीक मामले के दोषियों पर लगेगा रासुका, दोषी संस्थाएँ भी होंगी ब्लैकलिस्ट

नौजवानों के भविष्य से खिलवाड़ करने वालों से सरकार करेगी खिलवाड़

3,807

देश में किस तरह से युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है, यह बात सभी लोग जानते हैं। केंद्र और राज्य दोनो ही जगहों की सरकार में ऐसी घटनाएँ कई बार हो चुकी हैं, जब प्रतियोगी परीक्षा से पहले पेपर ही लीक हो जाता है। आए दिन प्रतियोगी परीक्षाओं के पेपर लीक होने की घटनाओं की संख्या बढ़ती ही जा रही है। इस मामले पर गम्भीर रूख अपनाते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि इस मामले में दोषी पाए जानें वाले प्रतियोगियों और अभ्यर्थियों की गिरफ़्तारी होगी।

मान्यता कर दी जाएगी रद्द:

इसके साथ ही उनके ख़िलाफ़ राष्ट्रीय सुरक्षा क़ानून (एनएसए) के तहत भी कार्यवाई की जाएगी। वहीं इसी मामले में आगे योगी ने कहा कि जो भी संस्थाएँ पेपर लीक मामले में दोषी पायी जाएँगी उन्हें भी ब्लैकलिस्ट कर दिया जाएगा। अगर कोई सरकारी या मान्यताप्राप्त संस्था पायी जाती है तो उसकी मान्यता रद्द कर दी जाएगी। कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री योगी ने मंत्रियों, अफ़सरों और शिक्षकों को आईना दिखाने का काम किया और जमकर उनकी क्लास भी ली। उन्होंने यह भी ऐलान किया कि उत्तर प्रदेश सरकार में 97 हज़ार और शिक्षकों की भर्ती होगी।

नौजवानों के भविष्य से खिलवाड़ करने वालों से सरकार करेगी खिलवाड़:

Yogi Adityanath
Yogi Adityanath

आपकी जानकारी के लिए बता दें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में 68500 शिक्षकों की भर्ती में चयनित अभ्यर्थियों में से उपस्थित अभ्यर्थियों को सम्बोधित कर रहे थे। मंगलवार को डॉक्टर राम मनोहर लोहिया राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय में आयोजित नियुक्ति पत्र वितरण समारोह आयोजित किया गया था। बता दें बेसिक शिक्षक भर्ती परीक्षा में 600 से अधिक अभ्यर्थियों को बाहर कर दिया गया था। इससे नाराज़ मुख्यमंत्री योगी ने अफ़सरों को चेतावनी देते हुए कहा कि जो अधिकारी नौजवानों के भविष्य से खिलवाड़ करेंगे, सरकार उनकी सेवा के साथ खिलवाड़ करेगी।

बेसिक शिक्षक भर्ती परीक्षा के लिए आए कम आवेदन:

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि सरकार ने पुलिस कांस्टेबल के 42000 ख़ाली पदों पर जब आवेदन निकाला तो 22 लाख आवेदन आए। जबकि वहीं दूसरी तरफ़ 68500 बेसिक शिक्षकों की भर्ती के लिए कुल 1.05 लाख ही अवेदन आए। यही नहीं इसके लिए जो परीक्षा आयोजित की गयी थी, उसमें केवल 41556 अभ्यर्थी ही सफल हुए। आज भी शिक्षकों के काफ़ी पद ख़ाली पड़े हुए हैं। मुख्यमंत्री के बग़ल में बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभर) अनुपमा जायसवाल बैठी हुई थीं। उनके नाम लेते हुए योगी ने कहा कि प्रदेश के आठ आकांक्षी (आती पिछड़े) जिलों में शामिल श्रावस्ती के 120 विद्यालयों में शिक्षक ही नहीं हैं।

मंत्रि के पड़ोस के जिले में ही 120 विद्यालयों में शिक्षक ग़ायब:

Yogi Adityanath
Yogi Adityanath

योगी ने कहा कि यह बेसिक शिक्षा मंत्री के पड़ोस का ज़िला है, यानी चिराग़ तले ही अँधेरा है। उसके बाद उन्होंने कहा कि मंत्री का ज़िला बहराइच भी आकांक्षी जिलों में शामिल है, यहाँ भी वहीं स्थिति होगी। योगी ने अपने भाषण के दौरान अपनी सरकार के मंत्रियों को भी नहीं बख़्सा। उन्होंने आगे कहा कि जो लोग शिक्षक भर्ती परीक्षा में सफल नहीं हुए वह भी कोर्ट से आदेश लेकर आ रहे हैं कि हमें नौकरी दीजिए। उन्होंने अपनी बग़ल में बैठे अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा डॉक्टर प्रभात कुमार को निर्देश दिया कि वो इसकी जाँच करवाएँ कि लोग कोर्ट का आदेश ही लेकर आ रहे हैं, या किसी और का।

सरकार जहाँ भेजे वहीं जाएँ और दलालों से दूर रहें:

योगी ने परीक्षा में चयनित अभ्यर्थियों को भी नसीहत देते हुए कहा कि वो अपनी ज़िद छोड़कर वहाँ जाएँ जहाँ सरकार उन्हें भेजे। दलालों से दूर रहने की भी नसीहत दी। योगी ने अभ्यर्थियों से आठ आकांक्षी जिलों में अपनी सेवाएँ देने के लिए भी कहा। योगी ने अपने सम्बोधन के दौरान कहा कि पहले शिक्षक बच्चों को सफ़ाई से रहने की शिक्षा देते थे। वो बताते थे कि अपने बाल और नाख़ून छोटे और साफ़ रखने हैं। मज़ाक़ करते हुए उन्होंने कहा कि इसी वजह से मैंने बचपन में ही सीख लिया था कि बाल छोटे रखने हैं। आपको बता दें इस कार्यक्रम में बेसिक शिक्षक भर्ती में चयनित 3000 अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र दिए गए।

 


यह भी पढ़े:

 

 

 

 

 

 

Loading...

Loading...

- Advertisement -

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More