THE ADDA
THE ADDA: Hindi News, Latest News, Breaking News in Hindi, Viral Stories, Indian Political News

दिल्ली में किसानों का महामार्च, दिल्ली में घुसने के सभी रास्तों पर पुलिस का कड़ा पहरा

किसानों ने बताया प्रशासन की योजना को धोखा

4,867

देश के किसानों की आज क्या हालत हो गयी है, यह किसी को बताने की ज़रूरत नहीं है। 2 अक्टूबर के दिन जन्में लाल बहादुर शास्त्री ने जय जवान जय किसान का नारा दिया था। उनके अनुसार देश को किसान और जवान ही मिलकर सम्भाले हुए हैं। लेकिन आज किसानों की दुर्दशा से हर कोई परिचित है। किसानों को उनकी मेहनत का सही फल नहीं मिल पा रहा है और लाखों किसान बैंकों के क़र्ज़ तले दबे हुए हैं। कई किसानों ने बैंकों और साहूकारों के क़र्ज़ से परेशान होकर अपना जीवन ही समाप्त कर दिया। भारत में तेज़ी से किसान आत्महत्या के मामले भी बढ़ रहे हैं।

 

सड़कों पर देखने को मिला किसानों का हुजूम:

farmer protest latest news

देश के किसान समय-समय पर अपनी माँग को लेकर राजधानी में धरना देते रहते हैं। विभिन्न माँगों को लेकर हरिद्वार से आ रही किसान क्रांति यात्रा को रोकने के लिए मंगलवार सुबह से यूपी गेट पर दिल्ली में घुसने के सभी रास्ते सील कर दिए गए हैं। बता दें भारी संख्या में दिल्ली और यूपी पुलिस बल के साथ पैरामिलिट्री फ़ोर्स को भी तैनात किया गया है। दिल्ली के साथ उत्तर प्रदेश के ग़ाज़ियाबाद और नोएडा में भी भारी पुलिस बल तैनात है। बता दें इससे पहले हरिद्वार से दिल्ली के किसान घाट के लिए आ रही किसान क्रांति यात्रा सोमवार दोफ़र हिंडन पहुँची तो इस दौरान सड़कों पर किसानों का हुजूम देखने को मिला।

 

किसानों ने बताया प्रशासन की योजना को धोखा:

ट्रैक्टर-गाड़ियों के अलावा, पैदल सैकड़ों किसानों ने लिंक रोड पर वसुंधरा स्थित दो फॉर्म हाउसों में डेरा डाल लिया। सोमवार रात सीएम योगी आदित्यनाथ से हुई किसानों की वार्ता विफल रही। जानकारी के अनुसार इसके बाद अब किसान मंगलवार सुबह सात बजे दिल्ली के लिए कूच करेंगे। बता दें अपनी अलग-अलग माँगों को लेकर हरिद्वार से दिल्ली आ रही किसान क्रांति यात्रा को प्रशासन ने कमला नेहरु नगर में रोकने की योजना बनाई थी। किसानों ने प्रशासन की योजना को धोखा बताते हुए सीधे ट्रांस हिंडन का रूख कर दिया। दोपहर दो बजे किसान क्रांति यात्रा ने ट्रांस हिंडन में प्रवेश कर लिया। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष राकेश टिकैत और राष्ट्रीय प्रवक्ता नरेश टिकैत के नेतृत्व में हज़ारों किसान जीटी रोड से होते हुए लिंक रोड स्थित सब्ज़ी मंडी पहुँचे।

 

अधिकारियों ने किसानों को सड़क से हटाने की बनाई योजना:

farmer protest latest news

यहाँ किसानों ने मंदिर के अंदर जानें से इनकार कर दिया। किसानों ने आरोप लगाया कि प्रशासन मंडी के दरवाज़े बंद करके उन्हें बंधक बना लेगा। वे सड़क पर बैठने के लिए तैयार हो गए। किसानों की इस हरकत के बाद अधिकारियों में हड़कम्प मच गयी। शहर में जाम को देखते हुए अधिकारियों ने उन्हें सड़क से हटाने की योजना बनाई। इसके बाद उन्हें मंडी के सामने स्थित दो फ़ॉर्म हाउस में रोका गया। देर रात तक किसान दोनों फ़ॉर्म हाउस में डंटे रहे। किसानों के नेता राकेश टिकैत ने बताया कि वह सुबह होते ही यहाँ से दिल्ली के लिए प्रस्थान करेंगे। बता दें फ़ॉर्म हाउस में किसानों से मिलने के लिए डीएम रितु माहेश्वरी और एसएसपी वैभव कृष्ण पहुँचे।

 

बिना प्रधानमंत्री से मिले बिना लौटने से किया इनकार:

लगभग एक घंटे तक दोनों ने किसानों से बंद कमरे में बातचीत की। लेकिन बात नहीं बनी और किसान दिल्ली जानें पर अड़े रहे। किसानों को समझाने के लिए देर शाम गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने मिलने बुलाया था। प्रशासन ने देर रात किसानों की बातचीत उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से करवाई। भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता धर्मेंद्र मलिक ने बताया कि मुख्यमंत्री ने साफ कर दिया कि प्रधानमंत्री का कार्यक्रम व्यस्त है, ऐसे में वह अभी किसानों से नहीं मिल सकते। उन्होंने किसानों को जल्द ही उनकी मांगों पर हल निकालने का प्रस्ताव दिया, लेकिन किसान दिल्ली कूच करने की बात पर अड़े रहे। किसानों ने प्रधानमंत्री से मिले बिना लौटने से इनकार कर दिया।


यह भी पढ़ें:-

Comments
Loading...