THE ADDA
THE ADDA: Hindi News, Latest News, Breaking News in Hindi, Viral Stories, Indian Political News

बारिश के दिनों में भारत की ये नदियाँ उगलती हैं सोना, लोग करते हैं यह काम

पानी कम होते ही अपने उपकरण के साथ उतर जाते हैं पानी में

46

आज के समय में जिसे देखो वही पैसे के पीछे पागल हुआ रहता है। आख़िर हो भी क्यों ना, आज के समय में लोगों के लिए पैसा ही सबकुछ बन गया है। बिना पैसे के आज के समय में जीवन जी पाना लगभग नामुमकिन ही है। आप कहेंगे कि एक भिखारी भी तो जीवन जी लेता है, लेकिन जनाब जब उसे भूख लगती है तो वह भी लोगों से भीख माँगता है। उसके बाद ही वह अपना पेट भर पाता है। इसलिए यह कहना ग़लत नहीं होगा कि आज के समय में बिना पैसों के कोई भी काम कर पाना आसान नहीं है।

 

कई लोग गलत तरीक़े से कमाते हैं पैसे:

अगर आपके पास पैसा है तो आपका जीवन बेहतर होगा और अगर आपके पास पैसा नहीं है तो आपका जीवन बहुत ही मुश्किलों भरा होगा। बिना पैसे के जीवन किसी अभिशाप से कम नहीं है। अब जब पैसा ही सबकुछ है तो इसे पाने के लिए सभी लोग पागल ही होंगे। पैसे के लिए आज के समय में लोग कुछ भी करने के लिए तैयार रहते हैं। यहाँ तक कि कुछ लोग ग़लत तरीक़ों से पैसा कमाने से भी नहीं कतराते हैं। इसी चक्कर में कई बार वह बड़ी मुसीबत में भी फँस जाते हैं।

 

नदी के बारे में जानकर खुला रह जाएगा आपका मुँह:

gold river in bihar

आप तो यह अच्छी तरह जानते हैं कि इस दुनिया में कई तरह के धातु पाए जाते हैं। प्रकृति की गोद में कई ऐसे धातु दबे हुए हैं, जिनकी क़ीमत आज के समय में लाखों रुपए में है। ऐसे में लोग यही चाहत रखते हैं कि उन्हें कहीं से क़ीमती धातु मिल जाए और वह रातों रात अमीर बन जाएँ। अगर आपकी भी ऐसी कामना है, तो आज हम आपको एक ऐसी नदी के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसके बारे में जानकर आपका मुँह खुला का खुला ही रह जाएगा। जी हाँ अगर आपको यक़ीन नहीं हो रहा है तो आप ख़ुद ही देख लीजिए।

 

सोना उगलने वाली नदी के बारे में जानकर क्या करेंगे आप?

यह बात सभी लोग जानते हैं कि सोना एक बहुत ही क़ीमती धातु है। सोने के पीछे महिलाएँ ही नहीं बल्कि पुरुष भी पागल रहते हैं। महिलाएँ सोना पहनने के लिए पागल रहती हैं, वहीं पुरुष सोना पानें के लिए पागल रहते हैं। भारतीय बाज़ार में आज के समय में सोने की क़ीमत लगभग 30 लाख रुपए प्रति किलो के आस-पास है। अब ऐसे में अगर आपको एक सोना उगलने वाली नदी के बारे में पता चल जाए तो आप क्या करेंगे। यक़ीनन आप भी चाहेंगे कि एक बार आप भी उस नदी के किनारे जाएँ, शायद आपकी क़िस्मत भी चमक जाए।

 

अपने साथ हर साल बहाकर लाती हैं सोना:

आपको जानकर बहुत ज़्यादा हैरानी होगी कि आज हम आपको जिस नदी के बारे में बताने जा रहे हैं, वह कहीं और नहीं बल्कि भारत में ही स्थित है। जी हाँ बिहार के पक्षिमी चंपारण जिले के रामनगर क्षेत्र कुछ गाँवों में बारिश के दिनों में लोगों को सोना मिलता है। अब आप जानना चाहेंगे कि ऐसा कैसे, तो आपको बता दें कि यह सोना यहाँ की नदियों से मिलता है। जानकारी के अनुसार ये नदियाँ बलुई, कापन और सोनहा हैं। ये नादिया हर साल अपने साथ सोना बहाकर लाती हैं। इन नदियों के पानी से सोना छानकर आस-पास के गाँवों में रहने वाले लोग अपने एक साल के खाने-पीने का इंतज़ाम करते हैं।

 

पानी कम होते ही अपने उपकरण के साथ उतर जाते हैं पानी में:

gold river in bihar

यह बात किसी से छुपी हुई नहीं है कि बिहार के लोगों के लिए हर साल बारिश किसी अभिशाप से कम नहीं है। यहाँ के लोगों को हर साल बारिश के दिनों में बाढ़ जैसी प्राकृतिक आपदा का सामना करना पड़ता है। इस क्षेत्र की ये नदियाँ भी बाढ़ के समय में बहुत उफनती हैं। यहाँ के लोग बाढ़ कम होने का इंतज़ार करते हैं और जैसे ही पानी कम होता है, ये लोग अपने विशेष उपकरणों के साथ पानी में उतर जाते हैं। ये लोग नदियों के बहाव की वजह से बहकर आयी हुई बालू को छानते हैं और उसमें से सोना निकालते हैं। सोना निकालने के बाद ये लोग इसे ऊँचे दामों पर बाज़ार में बेच देते हैं।

 

आदिवासी कई पीढ़ियों से कर रहे हैं ये काम:

इन गाँवों के लोगों के लिए बाढ़ अभिशाप भी है और वरदान भी है। क्योंकि बाढ़ की वजह से ही ये सोना कहीं दूर से बहकर यहाँ आता है, जिसे ये छानकर अपना गुज़ारा करते हैं। जानकारी के अनुसार ऐसा इन गाँवों में आज से नहीं बल्कि बहुत समय से होता आ रहा है। पहाड़ी नदियों से सोना निकालने का कार्य आदिवासी कई पीढ़ियों से करते आ रहे हैं। अगर आप भी अमीर बनना चाहते हैं तो एक बार बारिश के दिनों में इन नदियों का रूख कर आइए, लेकिन हाँ इस दौरान आपको काफ़ी सावधानी बरतने की ज़रूरत पड़ सकती है, क्योंकि यह काम बहुत ही ख़तरनाक होता है।

 


यह भी पढ़े:

 

 

 

 

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More