THE ADDA
THE ADDA: Hindi News, Latest News, Breaking News in Hindi, Viral Stories, Indian Political News

डूडल ने मशहूर गायिका गौहर जान को दी श्रधांजली: जाने कौन थी गौहर जान ?

source - indian express
2,683

गूगल सर्च इंजन में आप गौर करेंगे तो आपको आज गौहर जान का डूडल नजर आएगा. गौहर जान उर्फ़ एंजलीना योवर्ड भारत की मशहूर गायिका और नर्तकी रह चुकी हैं. डूडल ने उनके १४५ वीं जन्मतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि दी है. गौहर जान भारत की पहली ऐसी गायिका थी जिनके संगीत की  रिकॉर्डिंग की गयी थी. उन्हें अपने जमाने का पहला रिकॉर्डिंग सुपरस्टार कहा जाता था.

कौन थी गौहर जान ? 

Gauhar Jaan
source – livemint

गौहर जान के पिता विलयम रोबर्ट पेशे से इंजीनयर थे. १८७२ में उन्होंने विक्टोरिया हेमंनिंग से शादी करी. उनकी ये शादी ज्यादा समय तक चली नहीं. उसके बाद विक्टोरिया ने इस्लाम धर्म अडॉप्ट कर लिया. विक्टोरिया ने अपना नाम बदल कर माल्का जान और बेटी का नाम गौहर जान रख लिया. गौहर जान को गौरा भी कहा जाता था.

 

विक्टोरिया जो जन्म से भारतीय थी, उन्होंने भारतीय क्लासिक  नृत्य और संगीत सीखा हुआ था. तलाक के बाद वो बनारस आके नर्तकी बन गयी और माल्का जान के नाम से प्रसिद्ध हुई. गौहर जान ने भी शास्त्रीय संगीत सिखने की शुरुआत बनारस से ही की थी. गौहर जान ने कत्थक की तालीम बृन्दादिन महाराज से ली थी. जो बिरजू महाराज के दादा चाचा थे.

गौहर जान हिंदी शास्त्रीय संगीत की उनके विधाओं में पारंगत थी. उनके द्वारा गायी गयी  ध्रुपद, खयाल, ठुमरी और बंगाली कीर्तन संगीत की धरोहर हैं. यही नहीं उन्होंने हिंदुस्तानी और उर्दू के अलावा  भी कई और भाषाओँ में गाने गए जैसे – बांग्ला, गुजराती, मराठी, तमिल, अरबी, फारसी, पश्तो, अंग्रेजी और फ्रेंच. इन सभी भाषाओँ की उन्होंने करीब ६०० डिस्क निकाले थे.
Gauhar Jaan
source – http://peopleofar.com/

गौहर जान एक बेहद उम्दा कलाकार थी ही इसलिए उनके नाज़ नखरे भी काफी थी. उस समय की मफ़िलों में जाने के लिए पहले वो १०१ सोने की गिन्नियां लिया करती थी. उसके बाद तमाम काफिले के साथ निकलती थी. गौहर जान का उस समय काफी नाम था, उन्हें बड़ी संगीत महफिलों में बुलाया जाना प्रतिष्ठा की बात माना जाता  था.

गौहर जान का जीवन शुरुआती  जीवन काफी दर्द भरा रहा. १३ वर्ष की उम्र में उनका शारीरिक शोषण हुआ था. उसके बाद से उन्होंने अपने जीवन को संगीत के लिए समर्पित कर दिया. विक्रम संपथ की किताब “माय नेम इज गौहर जान”  में उनसे जुड़ी ऐसी ही कईं बातों को बताया गया है.

विकिपीडिआ लिंक– गौहर जान


यह भी पढ़े

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More