THE ADDA | Hindi News - Breaking News, Viral Stories, Indian Political News In Hindi

- Advertisement -

भाजपा का आरोप गुजरात पलायन मामले में गिरफ़्तार 20 लोगों का कांग्रेस से सम्बंध

मामले में गिरफ़्तार किया गया है 533 लोगों को

0 4,382

आज के इस सोशल मीडिया के दौर में सोशल मीडिया की वजह से जहाँ समाज में कुछ अच्छी चीज़ें उभरकर सामने आयी हैं तो वहीं सोशल मीडिया की वजह से समाज में अशांति का महौल भी बना है। इसका ताज़ा उदाहरण गुजरात में देखने को मिल रहा है। राज्य के गृहमंत्री ने कहा कि सोशल मीडिया के ज़रिए भड़काऊ मैसेज भेजने वालों की जाँच की जा रही है। इसके साथ ही वो किस पार्टी या संगठन से जुड़े हुए हैं, इसकी भी जाँच की जा रही है। उनका कहना है कि अबतक जिन 20 लोगों की गिरफ़्तारी हुई है उनका सम्बंध कांग्रेस से है।

 

भड़काऊ मैसेज भेजने वाले की हो रही है जाँच:

gujarat-migrant-workers-many-arrested-home minister-says-congress-link

आपकी जानकारी के लिए बता दें गुजरात में उत्तर भारतियों पर होने वाले हमले और भी तेज़ हो गए हैं। इसकी वजह से वहाँ से लगातार उत्तर भारतियों का पलायन जारी है। अब इसकी वजह से देश की सियासत सुलग गयी है। इसी बीच गुजरात के गृहमंत्री प्रदीप सिंह जडेजा ने बताया कि आईटी एक्ट के तहत अब तक 7 मामले दर्ज किए गए हैं और 20 लोगों को भी गिरफ़्तार किया गया है। उनका कहना है कि भड़काऊ मैसेज के ज़रिए आग लगाने वालों की जाँच की जा रही है।

 

मामले में गिरफ़्तार किया गया है 533 लोगों को:

उनका कहना है कि अब तक जिन 20 लोगों को पुलिस ने गिरफ़्तार किया है, उनका सम्बंध किसी और पार्टी से नहीं बल्कि कांग्रेस से है। उन्होंने आगे कहा कि गुजरात के विकास को अवरुद्ध करने वाले किसी भी व्यक्ति को छोड़ा नहीं जाएगा। प्रदीप सिंह जडेजा ने कहा कि पूरे राज्य में पिछले 3 महीने से एक भी ऐसा मामला सामने नहीं आया है। उन्होंने कहा कि ठाकोर समाज के लोगों के नाम सामने आए हैं। पुलिस कॉल डिटेल निकाल रही है। उनके अनुसार अब तक इस मामले में कुल 533 लोगों को गिरफ़्तार किया जा चुका है और कुल 61 केस भी दर्ज किए गए हैं।

 

क्यों नहीं रोक पाई भाजपा इन घटनाओं को:

 

gujarat-migrant-workers-many-arrested-home-minister-says-congress-link

इस मामले को लेकर देशभर की राजनीति काफ़ी गरमा गयी है। दिल्ली से लेकर कई राज्यों की सरकार ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को निशाना बनाया है। इस घटना के बाद मोदी सरकार की मुश्किलें और बढ़ने वाली हैं। बता दें मोदी सरकार की मुश्किलें पहले से ही कम नहीं हैं, ऊपर से यह मामला और परेशानी खड़ी कर सकता है। पक्षिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस मामले पर राज्य की भाजपा सरकार को घेरा है। ममता बनर्जी ने कहा कि इस पूरे मामले में कहीं ना कहीं उकसावा एक बड़ी वजह है, लेकिन भाजपा ऐसी घटनाओं को क्यों नहीं रोक पाई?

 

श्रमिकों पर होने वाले हमले को रोकने के लिए उठाए असरदार क़दम:

ममता बनर्जी ने भाजपा सरकार पर हमला करते हुए आगे कहा कि, लोग काफ़ी डरे हुए हैं और गुजरात छोड़ने को मजबूर हैं। उन्होंने कहा कि वहाँ पर साम्प्रदायिक माहौल ख़राब किया जा रहा है, जिसे लेकर हम सभी काफ़ी चिंतित हैं। वहीं दिल्ली में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी पीएम मोदी से अपील की है कि वे गुजरात में हिंदीभाषी प्रवासी श्रमिकों पर हमले रोकने के लिए असरदार क़दम उठाएँ। केजरीवाल ने दावा किया है कि ऐसी घटनाएँ राष्ट्रीय राजधानी में रह रहे उत्तर प्रदेश और बिहार के लोगों में नाराज़गी पैदा कर रही है।

 

पुलिस ने गिरफ़्तार किया था बिहार के एक व्यक्ति को:

gujarat-migrant-workers-many-arrested-home minister-says-congress-link

आपकी जानकारी के लिए बता दें गुजरात राज्य के साबरकांठा जिले में 28 सितम्बर को एक 14 महीने की बच्ची के साथ बलात्कार हुआ था। इस घटना के बाद पुलिस ने बिहार के रहने वाले एक व्यक्ति को गिरफ़्तार किया था। वह व्यक्ति बिहार का रहने वाला था और गुजरात में मज़दूरी करता था। पुलिस की गिरफ़्तारी के बाद से ही छह जिलों में हिंदी भाषी लोगों के ख़िलाफ़ हिंसक घटनाएँ होनी शुरू हो गयी। जिन जिलों में उत्तर भारतियों को खदेड़ने की मुहिम चल रही है, उनमें से ज़्यादातर जिले उत्तर गुजरात के हैं।


इसे भी पढ़ें:-

Loading...

Loading...

- Advertisement -

Comments
Loading...