THE ADDA
THE ADDA: Hindi News, Latest News, Breaking News in Hindi, Viral Stories, Indian Political News

जानिए क्रिकेटर से पाकिस्तान की बागडोर सम्भालने वाले इमरान खान के बारे में

2,599

कौन जानता था कि क्रिकेट के मैदान से सफर की शुरुआत करने वाला व्यक्ति आज पाकिस्तान की गद्दी पर आसीन होगा। क्रिकेटर इमरान खान की पार्टी पीटीआई (पाकिस्तान तहरिक-ए-इंसाफ) पाकिस्तान की शियासत में भूचाल लाकर यह साबित कर दिया है कि जहां चाह है वहां राह, 22 साल की लम्बी राजनीतिक जद्दोज़हद ने यह साबित कर दिया जहां चांह है वहां रांह है। पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की कुर्सी का छिन जाने और उनके जेल तक के सफर में इमरान की अहम भूमिका रही है। इसके साथ ही इमरान खान पाकिस्तान में बढ़ती बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, भूखमरी, अशिक्षा, आतंकवाद और पानी के संकट पर की तरफ़ भी लोगों का ध्यान आकर्षित करते रहे हैं।

 

उभरकर आए मज़बूत शख्सियत के रूप में:

65 वर्षीय इमरान अहमद खान नियाजी का जन्म पाकिस्तान के लाहौर के एक पश्तून परिवार में 5 अक्टूबर, 1952 को हुआ था। राजनीति में आने से पहले इमरान खान को एक लोकप्रिय क्रिकेटर के रूप में जाने जाते थे। शुरुआत में इमरान के जीवन में काफी उतार-चढ़ाव व विवाद देखने को मिला। लेकिन इसके बावजूद वह ना सिर्फ एक सशक्त शख्सियत के रूप में उभर दुनिया के सामने आये, बल्कि 2018 के पाकिस्तान आम चुनाव में उनकी पार्टी पीटीआई (पाकिस्तान तहरिक-ए-इंसाफ) ने सबसे ज्यादा सीटों पर जीत दर्ज़ की।

 

दिलवाया था पाकिस्तान को इकलौता वर्ल्डकप:

imran khan
source – dawn.com

इमरान ने अपनी पढ़ाई वर्सेस्टर के एचिसन और ऑक्सफोर्ड के केबल कॉलेज से पूरी की। जिस समय हर कोई बच्चा अपने बचपन में मस्ती करना चाहता है, उस समय महज 13 वर्ष की उम्र से इमरान ने क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया था। जिसके बाद पाकिस्तान के लिए अपना डेब्यू 1971 में बर्मिंघम में इंग्लैंड के खिलाफ 18 साल की उम्र में किया। लगभग दो दशक तक क्रिकेट खेलने के दौरान उन्होंने 1982-1992 तक पाकिस्तानी क्रिकेट टीम की बागडोर अपने हाथों में एक कैप्टन के रुप में संभाली और 1992 में पाकिस्तान को पहला और इकलौता क्रिकेट वर्ल्डकप जिताया। इमरान पाकिस्तान के सबसे सफल क्रिकेटरों में शामिल रहे और पाकिस्तान टीम को आक्रामक बनाने और जीतना सिखाने का श्रेय भी उन्हीं को जाता है।

 

प्रधानमंत्री बनने की दौड़ में हैं सबसे आगे:

1992 में क्रिकेट से रिटायरमेंट के बाद इमरान ने जनहित और लोक कल्याण कार्य करने शुरू किए। उन्होंने अपनी मां के नाम पर एक कैंसर अस्पताल भी खोला। इसके साथ ही युवाओं के पढ़ने के लिए कॉलेज भी बनवाया। यहां से उनके मन में राजनीति और सामाजिक छवि को मजबूत करने की शुरुआत देखी जा सकती है। पाकिस्तान की राजनीति में पर्दापण
इमरान ने अप्रैल 1996 में पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी बनाकर राजनीति में कदम रखा। लेकिन पहले चुनाव में उनकी किस्मत अच्छी नहीं रही और उन्हें हार का सामना करना पड़ा। लेकिन ये शुरुआत थी, 2013 के चुनाव में इमरान की पार्टी दूसरी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी। इसके बाद की तस्वीर हम सभी के सामने है। आज 2018 के पाकिस्तान आम चुनाव में इमरान की पीटीआई सबसे बड़ी पार्टी है और वह वजीर-ए-आजम (प्रधानमंत्री) बनने की दौड़ में सबसे आगे हैं।

 

इमरान खान के हैं पाँच नाजायज़ बच्चे:

इमरान खान अपने जवानी के दिनों से ही लड़कियों के बीच काफी लोकप्रिय रहे हैं। कई लड़कियों और अभिनेत्रियों के साथ उनके अफेयर की खबर उड़ती रही है। जिनमें भारतीय अदाकार जीनत अमान और पूर्व पाकिस्तानी पीएम बेनजीर भुट्टो का नाम भी शामिल है। इमरान ने पहली शादी 16 मई 1995 में जेमाइमा गोल्डस्मिथ से की, हालांकि 9 साल बाद आपसी मंजूरी से दोनों अलग हो गए। इसके बाद उन्होंने दूसरी शादी 2015 में ब्रिटिश-पाकिस्तानी पत्रकार रेहम खान से रचाई। लेकिन 10 महीने बाद ही दोनों ने तलाक ले लिया और फिर इनको किसी ने कहा था कि तीसरी शादी के बाद आपकी किस्मत के सितारे बुलंद हो जायेंगे, इसके बाद इमरान ने अपने गुरु बुशरा मानेका से तीसरी शादी 2018 में की और अभी तक उन्हीं के साथ जिंदगी जी रहे हैं। रेहम खान का आरोप की इमरान के पांच नजायज बच्चें है और साथ ही अपनी पार्टी के महिला कार्यकर्ताओं के साथ भी शारीरिक संबंधो का भी जिक्र हैं।


यह भी पढ़े:

 

 

 

 

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More