THE ADDA | Hindi News - Breaking News, Viral Stories, Indian Political News In Hindi

भारत का स्वदेशी रक्षा कवच, 40 किमी दूर से ही कर देगा दुश्मन की मिसाइल को ध्वस्त

सबक़ सिखाने के लिए ज़रूरी था सुरक्षा घेरा मज़बूत करना

2,464

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

भारत एक ऐसा देश है जिसके ऊपर बुरी नज़र रखने वाले कई देश हैं। भारत के ऊपर सबसे ज़्यादा बुरी नज़र रखने वाला कोई और नहीं बल्कि इसका पड़ोसी देश पाकिस्तान और चीन है। आए दिन दोनो ही देश भारत के लिए मुश्किलें खड़ी करते हैं। चीन तो समय-समय पर भारत को आँखे दिखाने से भी बाज़ नहीं आता है। ऐसे में भारत को ज़रूरत है मज़बूत सुरक्षा घेरे की। भारत अपने सुरक्षा घेरे को मज़बूत करने के लिए लगातार काम कर रहा है। आए दिन भारत कुछ ऐसा क़दम उठाता है, जिसे देखकर दुश्मन देश की हालत ख़राब हो जाती है।

 

24 घंटे जवान करते हैं देश की सीमा की सुरक्षा:

पाकिस्तान को यह बात पता है कि वह भारत के साथ सीधेतौर पर युद्ध नहीं जीत सकता है। इसलिए वह भारत को अंदर से खोखला करने के लिए अपने आतंकियों को चुपके से भारत की सीमा में भेजकर आतंकी घटनाओं को अंजमा दिलवाता है। उसे लगता है कि इससे भारत डरकर उसके सामने हाथ पसार देगा, लेकिन ऐसा होता नहीं है। भारत अपने ऊपर होने वाले हर हमले का जवाब खुलकर और बड़ी बहादुरी से देता है। भारत के सिपाही 24 घंटे अपने देश की सीमा की रक्षा में लगे हुए हैं। कई जवानों ने अपने देश की सीमा की रक्षा करते हुए अपने प्राण भी त्याग दिए।

 

सुरक्षा के क्षेत्र में हर रोज़ हो रहे हैं नए-नए कारनामे:

indian ballistic missile
Source: First post

आतंकियों से तो भारत के सिपाही बड़ी बहादुरी से लड़ते हैं, लेकिन अगर कोई देश भारत पर हमला कर दे तो क्या ऐसे में भारत अपना बचाव कर पाएगा। जी हाँ भारत अब इन सब मामलों में सक्षम हो गया है। हर दिन भारत सुरक्षा के क्षेत्र में नए-नए कारनामे कर रहा है। भारत के हालिया किए गए कारनामे के बारे में जानकर दुश्मन देश भारत की तरफ़ आँख उठाने की भी कोशिश नहीं करेगा। आपकी जानकारी के लिए बता दें सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए भारत ने गुरुवार को एक बहुत बड़ी कामयाबी हासिल की है। अब आप सोच रहे होंगे कि आख़िर भारत ने ऐसा कौन सा काम कर दिया।

 

सबक़ सिखाने के लिए ज़रूरी था सुरक्षा घेरा मज़बूत करना:

दरअसल गुरुवार को ओडिशा कोस्ट पर भारत ने बैलेस्टिक मिसाइल शील्ड का सफल परीक्षण किया। आपको जानकर हैरानी होगी कि इस शील्ड की मदद से दुश्मन की किसी भी तरह की मिसाइल को 40 किमी की रेंज में ही नष्ट किया जा सकेगा। देश की सुरक्षा की दृष्टि से यह एक बहुत बड़ी सफलता है। एयर डिफ़ेंस के हिसाब से यह भारत के लिए एक बहुत बड़ी उपलब्धि है। यह बात किसी से छुपी हुई नहीं है कि भारत के ऊपर बुरी नज़र रखने वाले चीन और पाकिस्तान को सबक़ सिखाने के लिए भारत को अपनी सुरक्षा व्यवस्था को मज़बूत करने की ज़रूरत थी।

 

मिशन को आदमी और कम्प्यूटर ने मिलकर पहुँचाया अंजाम तक:

indian ballistic missile
Source: First post

ऐस एमे इस मिसाइल का सफल परीक्षण भारत के लिए किसी ख़ुशी से कम नहीं है। यह सेना के लिए एक बहुत बड़ी कामयाबी है। आपको बता दें अभी केवल इस शील्ड का परीक्षण किया गया है। अभी इसे तैयार होकर भारत की सीमाओं की रक्षा करने में काफ़ी समय लगेगा। जानकारी के अनुसार यह 2022 तक भारत की सीमाओं पर रक्षा के लिए तैनात की जा सकेगी। इस पूरे मिशन को आदमी और कम्प्यूटर दोनो की मदद से पूरा किया गया है। इस परीक्षा के समय रडार मॉनिटरिंग सिस्टम, इलेक्ट्रो-ऑप्टिकल ट्रैकिंग सिस्टम और टेलिमेटरी सिस्टम की इस्तेमाल किया गया।

 

मिसाइलों का घेरा बनाकर ढक दे दिल्ली को:

अभी कुछ दिनों पहले ही देश की रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में रक्षा अधिग्रहण परिषद अमेरिका से 1 अरब डॉलर में नेशनल एडवांस्ड सर्फ़ेस तू एयर मिसाइल सिस्टम-2 (NASAMS-II) को अधिग्रहण करने के प्रस्ताव को मंज़ूरी दी है। जिस तरह से वाशिंगटन और मॉस्को की सरकार अपने देश की राजधानी को अभेद्य सुरक्षा प्रदान किए हुए है, उसी तर्ज़ पर भारत की केंद्र सरकार भी उसी की तैयारी कर रही है। इस मिसाइल तकनीक के सफलता पूर्वक बनने के बाद दुश्मन चाहकर भी भारत की राजधानी दिल्ली पर मिसाइल, ड्रोन या विमान से हमला नहीं कर पाएगा। भारत सरकार की कोशिश है कि वह दिल्ली के चरो तरफ़ इसी मिसाइलों का एक घेरा बनाकर इसे ढक दे।

 

भारत का यह सपना पूरा होने में लग सकता है थोड़ा समय:

इस मिसाइल के सफल परीक्षण के बाद से यह साफ़ हो गया है कि केंद्र सरकार का यह सपना ज़रूर पूरा होगा, लेकिन इसमें अभी थोड़ा समय लग सकता है। अगर एक बार यह मिसाइल बनकर तैयार हो जाए तो भारत की तरफ़ बुरी नज़र रखने वाले पाकिस्तान और चीन की हालत ख़राब होना लगभग तय है। जब से इस ख़बर को चीन और पाकिस्तान ने सुना है, तब से उनकी हालत और भी ख़राब हो गयी है।


यह भी पढ़ें :

 

 

 

 

Loading...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Loading...

- Advertisement -

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More