THE ADDA
THE ADDA: Hindi News, Latest News, Breaking News in Hindi, Viral Stories, Indian Political News

राज्यपाल ने दिल्ली के इशारे पर क्यों भंग कर दी असेंबली: फ़ारूख अब्दुल्ला

मुसलमान हिंदुस्तानी है पाकिस्तानी नहीं

0 5,730
SHEIN -Your Online Fashion Jumpsuit

जम्मू कश्मीर में इस समय क्या हो रहा है, इसके बारे में सभी लोगों को जानकारि होगी। इसी के बारे में जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ़्रेंस के नेता फ़ारूख अब्दुल्ला ने कहा कि बहुमत असेंबली में देखा जाना चाहिए ना कि राजभवन में। उन्होंने आगे कहा कि, राज्यपाल को असेंबली बुलानी चाहिए, जहां कोई दिखा सकता है कि उसके पास बहुमत है या नहीं। असेंबली ही सुप्रीम है।

चर्चा के दौरान फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में पिछले 5 महीनों से राज्यपाल शासन था। हम लोग उनसे (राज्यपाल से) बार-बार कह रहे थे कि असेंबली भंग कर दीजिये, ताकि हम जनता के पास जाएं। 5 महीने वो इंतजार करते रहे कि हो सकता है कि बीजेपी सज्जाद लोन के साथ बहुमत हासिल कर ले।

 

मुसलमान हिंदुस्तानी है पाकिस्तानी नहीं:

फ़ारूख अब्दुल्ला

SHEIN -Your Online Fashion Blouse

- Advertisement -

लोगों को खरीद ले…चाहे वो कांग्रेस के हों, पीडीपी के या फिर नेशनल कांफ्रेंस के, लेकिन यह नहीं हो सका। जब इन्होंने देखा कि राज्य में एक हुकुमत बनने वाली है जिसमें बीजेपी नहीं होगी, तो दिल्ली से एक आदेश आया और असेंबली भंग कर दी।

डॉ. फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि गवर्नर का पद सवालों के घेरे में रहा है। यह पहली बार नहीं हुआ है। ऐसे में यह सोचना पड़ेगा कि गवर्नर को गुलाम नहीं बनना पड़े। भविष्य में नेशनल कांफ्रेंस और पीडीपी में गठबंधन के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह हम तय नहीं कर सकते हैं। इसके लिए कार्यकर्ताओं से पूछना पड़ता है। किसी एक का निर्णय नहीं होता है। फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि मुसलमान पर सवाल उठाना बहुत आसान हो गया है कि वह एंटी नेशनल है, पाकिस्तानी है…कब वक्त आएगा कि जब यहां के लोग समझेंगे कि मुसलमान हिंदुस्तानी हैं, पाकिस्तानी नहीं। यह आरोप लगाना बहुत आसान है।

 

बाँटा जा रहा है हिंदू मुसलमानों को:

पंचायत चुनावों में बायकॉट के मसले पर उन्होंने कहा कि तमाम आरोप बेबुनियाद हैं। किसी के इशारे पर बायकॉट नहीं किया, बल्कि आर्टिकल 35ए और 370 पर तमाम सवालों के जवाब न मिलने पर ऐसा किया। अब्दुल्ला ने कहा कि जो चीज सही है वह लोगों के सामने रखनी चाहिए। जैसे मैं कहता हूं कि कश्मीर का जो हिस्सा पाकिस्तान के पास है उसे हम नहीं ले सकते हैं और जो हिस्सा हमारे पास है वह पाकिस्तान नहीं ले सकता है।

70 सालों में 4 जंगें हुईं, लेकिन क्या हमने वो हिस्सा ले लिया। यही हाल उनका भी है। मर कौन रहा है…कश्मीरी यहां भी मर रहा है और वहां भी। फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि गांधी और नेहरू कहते थे कि हिंदुस्तान सबका है। वह हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई…सभी का बराबर है। अब फर्क हो गया है. चुनाव जीतने के लिए हिंदू और मुसलमान को बांटा जा रहा है। यह हमारे लिए बहुत खतरनाक है।

 

 


 

Loading...
Loading...

- Advertisement -

SHEIN -Your Online Fashion Blouse

- Advertisement -

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More