THE ADDA
THE ADDA: Hindi News, Latest News, Breaking News in Hindi, Viral Stories, Indian Political News

पटना में आज से करेंगे कन्हैया कुमार अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत

रैली में शामिल हो सकते हैं 2 लाख से ज़्यादा लोग

0 5,663

पूरे देश में युवाओं के सामने छात्र राजनीति की एक मिशाल पेश करने वाले कन्हैया कुमार अब राजनीति में क़दम रखने के लिए तैयार हैं। जानकारी के अनुसार जवाहर लाल नेहरु विश्वविद्यालय छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार गुरुवार को पटना के गांधी मैदान से अपनी राजनीतिक पारी का आग़ाज़ करने वाले हैं। बता दें भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के बैनर तले पटना में ‘भाजपा हराओ, देश बचाओ’ रैली का आयोजन किया गया है। बताया जा रहा है कि इस रैली में विपक्षी दलों के कई बड़े राजनेता शामिल हो सकते हैं।

कन्हैया के ऊपर लगा था देशद्रोह का आरोप:

पटना

जानकारी के लिए बता दें कन्हैया कुमार इस रैली को सफल बनाने के लिए काफ़ी समय से लगे हुए हैं। पिछले कई दिनों से वह बिहार के कई जिलों का दौरा भी कर रहे हैं। ख़ासतौर से कन्हैया कुमार ने अपने गृह ज़िला बेगूसराय में काफ़ी जनसम्पर्क अभियान चलाया है। भाजपा और संघ के ख़िलाफ़ अपनी आवाज़ प्रखर करने वाले कन्हैया कुमार के ऊपर देशद्रोह का संगीन अपराध भी लग चुका हैं। हालाँकि अदालत ने उन्हें देशद्रोह के आरोप में दोषी नहीं माना। बार-बार भाजपा और संघ कन्हैया कुमार को देशद्रोही साबित करने पर तुली रहती है।

क्रांतिकारी युवाओं के प्रेरणास्त्रोत हैं कन्हैया कुमार:

बताया जा रहा है कि कन्हैया कुमार बेगूसराय से सीपीआई के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ सकते हैं। उनका चुनाव लड़ना लगभग तय हो चुका है। सूत्रों के अनुसार, आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने भी कन्हैया कुमार को बेगूसराय से महागठबंधन के साझा उम्मीदवार के तौर पर हरी झंडी दे दी है। इसके बाद से ही कन्हैया कुमार लगातार बेगूसराय और बिहार के अन्य जिलों में सक्रिय हो गए हैं। जानकारों का कहना है कि कन्हैया कुमार का सीधे चुनाव के मैदान में उतरना भाजपा के लिए काफ़ी नुक़सानदायक हो सकता है। आज के समय में क्रांतिकारी युवाओं के लिए कन्हैया कुमार प्रेरणास्त्रोत बन गए हैं।

रैली में शामिल हो सकते हैं 2 लाख से ज़्यादा लोग:

kanhaiya kumar will fight election against bjp from begusarai

बता दें मंगलवार को एक प्रेस कॉन्फ़्रेन्स के दौरान पटना में कन्हैया कुमार ने यह संकेत दिया था कि अगर सीपीआई उन्हें लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए टिकट देती है तो वह मना नहीं करेंगे और चुनाव लड़ेंगे। इस मामले में सीपीआई के महासचिव सत्यनारायण सिंह ने कहा कि गुरुवार को गांधी मैदान में होने वाली रैली में लगभग 2 लाख सी ज़्यादा लोग शामिल होंगे। बताया जा रहा है कि इस रैली में कांग्रेस की तरफ़ सी ग़ुलाम नबी आज़ाद, आरजेडी के तरफ से तेजस्वी यादव, हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा की तरफ से जीतन राम मांझी, लोक जनतांत्रिक पार्टी की तरफ से शरद यादव और सीपीएम की तरफ से सीताराम येचुरी के शामिल होने की संभावना है।

कार्यक्रम में शामिल होने के लिए भेजा जा चुका है न्योता:

जानकारी के अनुसार इन सभी नेताओं को सीपीआई की तरफ से रैली में शामिल होने के लिए न्योता भेजा जा चुका है। पटना के इस रैली पर सभी की नजरें हैं क्योंकि इस रैली के माध्यम से एक बार फिर से विपक्षी एकता का टेस्ट होगा। हालाँकि यह देखना बड़ा ही दिलचस्प होने वाला है कि अगर कन्हैया कुमार चुनावी मैदान में भाजपा के ख़िलाफ़ उतरते हैं तो क्या वह जीत पाते हैं या भाजपा के हाथों उहे शिकस्त मिलती है। लगातार भाजपा और संघ की नीतियों के ख़िलाफ़ बोलने वाले कन्हैया कुमार को वैसे तो जनता का ख़ूब समर्थन मिला है, क्या चुनाव मी भी उन्हें उतना ही समर्थन मिलता है। इसका पता 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में ही लगेगा।


Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More