THE ADDA | Hindi News - Breaking News, Viral Stories, Indian Political News In Hindi

भतीजी करुणा शुक्ला ने कहा अटल जी के नाम पर भाजपा की राजनीति से दुखी हूँ

भाजपा को डूबते को तिनके के सहारे की तरह दिख रहे हैं अटल जी

4,025

कांग्रेस की वरिष्ठ नेता और पूर्व प्रधानमंत्री अलट बिहारी वाजपेयी की भतीजी करुणा शुक्ला ने अपना दुःख ज़ाहिर किया। उन्होंने कहा कि जिस तरह से भाजपा अटल जी के नाम पर राजनीति कर रही है, उससे बहुत व्यथित हूँ। करुणा शुक्ला ने एक टीवी चैनल से बातचीत करते हुए कहा कि वाजपेयी जी की मृत्यु के बाद भाजपा जिस तरह से उनके नाम को अपनी राजनीति चमकाने के लिए इस्तेमाल कर रही है, उससे वह बहुत क्षुब्ध और व्यथित हैं। करुणा शुक्ला ने भाजपा के ऊपर आरोप लगते हुए कहा कि चार राज्यों में होने वाले चुनाव को ध्यान में रखकर भाजपा वाजपेयी के नाम को भुनाने की कोशिश कर रही है।

 

डूबते को तिनके के सहारे की तरह दिख रहे हैं अटल जी:

karuna shukla

आपकी जानकारी के लिए बता दें भाजपा अटल जी की मौत के बाद हर राज्य में शोक सभा और अस्थि कलश यात्रा निकाल रही है। करुणा शुक्ला ने कहा कि पिछले दस वर्षों से वाजपेयी को भाजपा ने परिदृश्य से पूरी तरह ग़ायब कर दिया था। इन दस वर्षों में जिन-जिन राज्यों में चुनाव हुए, उनके प्रचार में वाजपेयी का नाम लेना तो दूर किसी पोस्टर या बैनर पर उनकी तस्वीर तक नहीं लगाई गयी। लेकिन आगामी चार राज्यों में होने वाले चुनाव में भाजपा की नैया डूबती हुई दिख रही है, तो एकाएक भाजप का वाजपेयी जी डूबते को तिनके के सहारे की तरह दिख रहे हैं।

 

अटल जी की मौत को भाजपा ने मज़ाक़ बनाकर रख दिया:

यह बात तो सही है कि अटल बिहारी जैसे महान नेता, जिनकी इज़्ज़त विपक्ष भी करता था, की मौत को भाजपा ने मज़ाक़ बनाकर रख दिया है। पिछले कुछ दिनों में भाजपा नेताओं द्वारा जो किया जा रहा है, उसे देखकर तो कम से कम यही लगता है। वहीं करुणा शुक्ला के बयान के बाद भाजपा पार्टी के वरिष्ठ नेता और छत्तीसगढ़ राज्य में पर्यटन मंडल के उपाध्यक्ष केदारनाथ गुप्ता ने कहा कि करुणा शुक्ला की वाजपेयी पर अगर श्रद्धा होती तो वह उनकी पार्टी को नहीं छोड़ती। केदारनाथ गुप्ता ने कहा कि करुणा शुक्ला ने राजनीतिक स्वार्थ के लिए रिश्तों को भी किनारे कर दिया।

 

पिछले 10 वर्षों में कितनी बार याद आए अटल जी, यह बताना चाहिए:

karuna shukla

उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में अटल विहार और अटल आवास योजना बरसों से लागू है। इसलिए यह कहना बिलकुल ग़लत है कि वाजपेयी को यहाँ भुला दिया गया था। गुप्ता ने कहा कि हम सब अटल जी के सिद्धांतों के हिसाब से ही जनता की सेवा कर रहे हैं। देश में प्रधानमंत्री से लेकर भाजपा के बूथ स्तर तक के कार्यकर्ता अटल जी के जाने से बहुत दुखी हैं। नया रायपुर के नाम से लेकर विश्वविद्यालय का नामकरण वाजपेयी के नाम पर रखने पर करुणा शुक्ला ने कहा कि मुख्यमंत्री रमन सिंह को पिछले दस वर्षों में अटल जी की कितनी बार याद आए, उन्हें यह बताना चाहिए।

 

लालकृष्ण आडवाणी का भाजपा में हो रहा है अपमान:

वरिष्ठ कांग्रेस नेता करुणा शुक्ला ने कहा कि जनता भाजपा के आडंबर को जानती है और समझ रही है कि भाजपा क्या चाल चलने की कोशिश कर रही है। करुणा शुक्ला ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी अजातशत्रु थे। हर कोई उनसे प्रेम रखता था और उनका सम्मान करता था। जवाहर लाल नेहरु से लेकर इंदिरा गांधी तक, राजीव गांधी और सोनिया गांधी तक से उनके क़रीबी सम्बंध थे। यह बात इतिहास में दर्ज है। लेकिन लगता है भाजपा मानवीय सम्बन्धों का सम्मान करना भूल चुकी है। इसका सबसे बड़ा उदाहरण लालकृष्ण आडवाणी जैसे वरिष्ठ नेता हैं, जिनका भाजपा में अपमान हो रहा है।

 

2014 में करुणा शुक्ला ने दे दिया था भाजपा से इस्तीफ़ा:

karuna shukla

करुणा शुक्ला ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी होने के नाते उन्हें इससे बहुत ज़्यादा दुःख हो रहा है। अटल बिहारी वाजपेयी के भाई अवध बिहारी वाजपेयी की बेटी होने के नाते उन्हें भाजपा की इस करतूत से पीड़ा हो रही है। आपकी जानकारी के लिए बता दें पहले करुणा शुक्ला भाजपा में ही थी, लेकिन 2014 में इन्होंने भाजपा से इस्तीफ़ा दे दिया और कांग्रेस में शामिल हो गयी थी। जानकारी के अनुसार करुणा शुक्ला छत्तीसगढ़ के जांजगीर लोकसभा क्षेत्र से भाजपा की सांसद रह चुकी हैं। इसके साथ ही जब मध्यप्रदेश का बँटवारा नहीं हुआ था, उस समय बलौदा बाज़ार विधानसभा क्षेत्र से विधायक भी रही थीं।

 

शोक सभाओं में जमकर ठहाके लगाते दिखे भाजपा नेता:

करुणा शुक्ला भाजपा में वरिष्ठ पदों पर रहीं हैं। छत्तीसगढ़ के मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने करुणा शुक्ला को 2014 लोकसभा चुनाव में बिलासपुर सीट से चुनाव मैदान में उतारा था। इस चुनाव में करुणा शुक्ला भाजपा के लखनलाल साहू से हार गयी थीं। आपको बता दें अटल जी की अस्थि कलश यात्रा और शोक सभाओं में भाजपा के नेता जमकर ठहाके लगाते हुए भी दिखाई दिए हैं। इसका ज़िक्र करुणा शुक्ला ने भी किया। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शोकसभा में जिस तरह से ठहाके लगा रहे थे, वह बहुत ही शर्मनाक है।

 

भाजपा राजनीतिक हित के लिए कर रही है अटल जी का इस्तेमाल:

karuna shukla

अगर सही मायने में भाजपा अटल जी को श्रद्धांजलि देना चाहती तो अटल जी के अस्थियों का बंदरबाँट ना करती। जानकारी के अनुसार अटल जी की अस्थियों को देश के कई हिस्सों में भेजा गया है। हर जगह शोक सभाओं का आयोजन किया जा रहा है और उनके बारे में बताया जा रहा है। जबकि कई जगहों पर शोक सभाओं में भाजपा नेता मंच पर ठहाके लगते हुए दिखाई दिए हैं। अगर सच में कोई दुखी होता तो ऐसा करता, यह सोचने वाली बात है। इसी बात से पता चलता है कि भाजपा अटल जी की मौत का मज़ाक़ बना रही है और उसे अपने राजनीतिक हित के लिए इस्तेमाल कर रही है।

 


इसे भी पढ़ें:

 

 

 

 

 

 

Loading...

Loading...

- Advertisement -

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More