THE ADDA
THE ADDA: Hindi News, Latest News, Breaking News in Hindi, Viral Stories, Indian Political News

मिर्च अटैक के पीछे केजरीवाल ने बताया भाजपा का हाथ, कहा- मरवाना चाहते हैं ये लोग मुझे

भाजपा करना चाहती है मुख्यमंत्री की हत्या

0 5,800

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने ऊपर मिर्च फेंके जानें की घटना में भाजपा का हाथ बताया है। उन्होंने कहा कि पिछले 2 साल में उनपर 4 हमले हो चुके हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि ये लोग उन्हें मरवाना चाहते हैं। केजरीवाल पर ये हमला दिल्ली सचिवालय के भीतर तब हुआ जब वो अपने चैंबर से बाहर भोजन करने के लिए निकल रहे थे। उधर, केजरीवाल पर मिर्च पाउडर फेंके जाने के विरोध में आम आदमी पार्टी ने आज बीजेपी मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन भी किया। पार्टी का आरोप है कि बीजेपी दिल्ली पुलिस के साथ मिलकर इस तरह के हमलों की साज़िश कर रही है।

 

भाजपा करना चाहती है मुख्यमंत्री की हत्या:

केजरीवाल

आपकी जानकारी के लिए बता दें इससे पहले आप के वरिष्ठ नेता और दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री और ‘आप’ संयोजक अरविंद केजरीवाल को दिल्ली की जनता के हित में काम करने से रोकने के लिए भाजपा उनकी हत्या कराना चाहती है. सिसोदिया ने मंगलवार को केजरीवाल पर मिर्च पाउडर फ़ेंक कर किए गए हमले का हवाला देते हुए कहा कि हमलावर भाजपा का कार्यकर्ता है. उन्होंने कहा, केजरीवाल को काम करने से रोकने के सभी हथकंडे नाकाम रहने के बाद भाजपा मुख्यमंत्री की हत्या कराना चाहती है। कल की घटना इसी साज़िश का परिणाम है।

 

नहीं आया है राज्यपाल की तरफ़ से कोई बयान:

बता दें मंगलवार को सिसोदिया ने हमले के समय दिल्ली सचिवालय में भाजपा के एक नेता की मौजूदगी की बात सामने आने पर इसकी भी जांच कराने की मांग की। उन्होंने कहा कि हमलावर के फेसबुक पेज पर मुख्यमंत्री केजरीवाल के लिए अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया गया है। उसके फ़ेसबुक पेज पर यह सिलसिला पिछले एक माह से चल रहा था। उसके पेज पर भाजपा के नेताओं की फ़ोटो है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री पर हमले के मामले में उपराज्यपाल की ओर से कोई बयान नहीं आया। उन्होंने बताया कि गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने केजरीवाल को फ़ोन कर कहा कि आप पुलिस में शिकायत दर्ज करा दें।

 

 


 

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More