THE ADDA | Hindi News - Breaking News, Viral Stories, Indian Political News In Hindi

जब जानेंगे इस मंदिर के तहख़ाने का रहस्य तो उड़ जाएँगे आपके होश

बिना धोती के पुरुषों को नहीं घुसने दिया जाता अंदर

0 5,688

भारत एक धार्मिक देश यह, यह बात सभी लोग जानते हैं। काफ़ी समय पहले भारत बहुत ज़्यादा धनवान देश हुआ करता था। इसी वजह से भारत को सोने की चिड़िया कहा जाता था। भारत सोने की चिड़िया कहा जाता था, इसके पीछे भारत के मंदिरों का बहुत बड़ा योगदान है। आपकी जानकारी के लिए बता दें भारत ऐसे मंदिर हैं जो अपने रहस्यों के लिए मशहूर हैं। उन्ही में से एक है पद्मनाभस्वामी मंदिर। भगवान विष्णु को समर्पित यह मंदिर केरल में स्थित है। यह भारत के प्राचीन मंदिरों में से एक है।

 

मंदिर के गर्भगृह में है सोने का एक स्तम्भ:

know secret about this mysterious temple

 

 

इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि श्रीकृष्ण के बड़े भाई बलराम इस मंदिर में आए थे। यहाँ उन्होंने स्नान करके भगवान के लिए प्रसाद बनाया था। मंदिर के गर्भगृह में भगवान विष्णु की विशाल शयनमुद्रा में प्रतिमा स्थापित है। प्रतिमा में भगवान विष्णु शेषनाग पर विराजित हैं। मंदिर में एक सोने का स्तम्भ भी बना हुआ है। सोने का यह स्तम्भ मंदिर की ख़ूबसूरती में चार-चाँद लगा देता है।

 

 

बिना धोती के पुरुषों को नहीं घुसने दिया जाता अंदर:

इस मंदिर में हर साल कई श्रद्धालु दर्शन के लिए आते हैं। मान्यता के अनुसार इस मंदिर में प्रवेश करने के लिए पुरुषों को धोती और महिलाओं को साड़ी पहनकर आना ज़रूरी है। इस मंदिर में किसी अन्य धर्म के लोगों को घुसने की अनुमति नहीं है। इसमें केवल हिंदू धर्म में आस्था रखने वाले लोग ही प्रवेश कर सकते हैं। मंदिर के अंदर 6 तहख़ाने बने हुए हैं। एक तहख़ाने के बाहर तीन अलग-अलग धातुओं के दरवाज़े बने हुए हैं।

 

तहखाना खोला गया तो आ जाएगा महाप्रलय:

know secret about this mysterious temple

आपको बता दें इन 6 तहखानों में से अब तक 5 को खोला जा चुका है। पद्मनाभस्वामी मंदिर के ख़ज़ाने से लगभग 1 लाख करोड़ का ख़ज़ाना मिला है। इसमें सोना, चाँदी, हीरा, रूबी, पन्ना और क़ीमती रत्न शामिल हैं। अभी भी इस मंदिर का एक तहखाना खोलना बाक़ी है। लोगों का मानना है कि मंदिर के आख़िरी तहख़ाने को खोला गया तो महाप्रलय भी आ सकता है। वहाँ के लोगों का मानना है कि तहख़ाने के दरवाज़े के पीछे से कुछ आवाज़ें आती हैं। आवाज़ ऐसी होती है जैसे कोई विशाल सर्प ख़ज़ाने की रक्षा कर रहा हो। इसी वजह से आजतक किसी ने छठे तहख़ाने को खोलने की हिम्मत नहीं की।


यह भी पढ़ें:-

Loading...

Loading...

- Advertisement -

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More