THE ADDA | Hindi News - Breaking News, Viral Stories, Indian Political News In Hindi

- Advertisement -

आख़िर क्यों जहाँ देह व्यापार का धंधा होता है, उसे रेड लाइट एरिया कहा जाता है

देह व्यापार करने वाली जगह का रहा है लाल रंग से नाता

4,616

हर समाज का निर्माण लोगों से ही होता है। जिस स्थान पर जैसे लोग रहते हैं, वहाँ उसी तरह का माहौल रहता है। उदाहरण के लिए जिस जगह पर किसी चीज़ का व्यापार किया जाता है, उस जगह पर बहुत से लोग एक ही काम करते हुए दिख जाते हैं। उस क्षेत्र को बाज़ार नाम दिया जाता है। बाज़ार कई तरह के होते हैं। बाज़ार की अवधारणा आज से नहीं बल्कि सदियों पहले से चली आ रही है। किसी भी बाज़ार में सामान्य तौर पर ज़रूरत की हर चीज़ें आसानी से मिल जाती हैं। खाने-पीने की चीज़ों से लेकर घर की अन्य ज़रूरतों की चीज़ें किसी बाज़ार में मिल जाती हैं।

 

इंसान की होती हैं कई तरह की ज़रूरतें:

red light area

इंसान की कई तरह की ज़रूरतें हैं। इन्ही में से एक ज़रूरत है शारीरिक ज़रूरत यानी किसी महिला के साथ शारीरिक सम्बंध। हर पुरुष को इस चीज़ की ज़रूरत होती है। कई लोग अपनी यह ज़रूरत शादी के बाद पूरी करते हैं, जबकि कई लोग शादी से पहले भी अपनी  इस ज़रूरत को पूरा कर लेते हैं। कई बार कुछ लोग शादी के बाद भी अपनी यह ज़रूरत किसी अन्य महिला के साथ पूरी करने की इच्छा रखते हैं। अपनी इस इच्छा को पूरी करने के लिए वो वेश्यालयों का रूख करते हैं। देह व्यापार करने वाली इन महिलाओं को पैसे देकर उनके साथ सम्बंध बनाए जाते हैं।

 

देह व्यापार के धंधे वाली जगह को कहते हैं रेड लाइट एरिया:

आपको बता दें देह व्यापार का यह धंधा लगभग सभी देशों में किया जाता है। कई ऐसे देश हैं, जहाँ देह व्यापार का धंधा क़ानूनी है जबकि कई देशों में यह ग़ैरक़ानूनी है। जिन देशों में देह व्यापार का यह काम ग़ैरक़ानूनी है, उन देशों में भी चोरी-छुपे देह व्यापार किया जाता है। आपने अगर कभी ध्यान दिया होगा तो जहाँ देह व्यापार का धंधा किया जाता है उस बाज़ार या क्षेत्र को रेड लाइट एरिया के नाम से जाना जाता है। क्या अपने कभी इस बात पर विचार किया है कि देह व्यापार करने वाले क्षेत्र को रेड लाइट एरिया क्यों कहा जाता है?

देह व्यापार करने वाली जगह का रहा है लाल रंग से नाता:

red light area

आज हम उनके इसी सवाल का जवाब लेकर आए हैं। आपको बता दें हर बड़े शहर में एक ऐसा क्षेत्र होता है जहाँ देह व्यापार का धंधा होता है। लोग उसे रेड लाइट एरिया कहते हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि यह काम आज से नहीं बल्कि सदियों से किया जा रहा है। देह व्यापार करने वाले क्षेत्र को रेड लाइट एरिया कहने के पीछे कई मान्यताएँ हैं। जानकारी के अनुसार हज़ारों सालों से देह व्यापार करने वाले जगह का लाल रंग से रिश्ता रहा है।

 

आम लोगों वाले वेश्यालय में लगाया जाता था लाल रंग:

red light area

लाल रंग को कामुकता तथा संवेदनशील का प्रतीक माना जाता है। प्रथम विश्वयुद्ध के समय बेल्जियम और फ़्रान्स के कई वेश्यालयों का वर्गीकरण किया गया था। जिन वेश्यालयों में अधिकारी लोग जाते थे, उसके सामने नीले रंग का कोई चिन्ह लगाया जाता था, जबकि जिन वेश्यालयों में आम लोग जाते थे उसके सामने लाल रंग का चिन्ह लगाया जाता था। लाल रंग और वेश्याओं के बीच के सम्बंध के बारे में एक धार्मिक किताब में भी कुछ उदाहरण मिलता है। इसके अनुसार बहुत समय पहले एक रहाब नाम की वेश्या रहती थी। उसने अपने घर की पहचान के लिए घर के बाहर एक लाल रंग की रस्सी लगायी हुई थी, ताकि लोग उसके घर को आसानी से पहचान सकें।


और पढ़ें:

 

Loading...

Loading...

- Advertisement -

Comments
Loading...