THE ADDA
THE ADDA: Hindi News, Latest News, Breaking News in Hindi, Viral Stories, Indian Political News

आज से कुम्भ मेला में पहला शाही स्नान, प्रयागराज में बढ़ाई गई पहले से ज़्यादा सुरक्षा

0 4,672

भारत में सदियों से धर्म को एक अलग महत्व दिया गया है। हिंदू धर्म में पूजा-पाठ के साथ ही पवित्र नदियों में स्नान की भी परम्परा है। कुम्भ मेले के दौरान भी स्नान किया जाता है। बता दें आज सी कुम्भ मेला शुरू हो रहा है। आज पहला शाही स्नान है। यह मेला 45 दिनों तक चलेगा, जिसमें देश-विदेश की लगभग 15 करोड़ से ज़्यादा श्रद्धालु जुटेंगे। मंगलवार यानी आज सुबह 5:30 बजे पहला स्नान शाही स्नान था, जो शाम 4:30 बजे तक चलेगा। श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए गंगा नदी के किनारे एक छोटा शहर बसाया गया है। यहाँ लगाए गए टेंटों की क़ीमत 650 रुपए से लेकर 20000 रुपए तक है। कुम्भ मेले में आने वाले श्रद्धालुओं को देखते हुए मेले की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

की गई है पुलिस और अर्धसैनिकबलों की तैनाती:

कुम्भ

मेले की सुरक्षा के बारे में मेले की DIG केपी सिंह ने कहा कि, अर्धसैनिक और पुलिस बलों की तैनाती की गई है, साथ ही संगम की तरफ का यातायात 3,000 पुलिसकर्मी संभालेंगे। नहाने वाले घाटों पर चेंजिंग रूम और शौचालयों के इंतजाम किए गए हैं। कुंभ प्रशासन ने एक बयान में कहा, “इस बार कुंभ मेला में स्वच्छता पर विशेष जोर दिया गया है। पिछले सालों में शौचालय नहीं होने के कारण लोग खुले में शौच करने पर मजबूर थे, लेकिन इस साल 1,20,000 शौचालयों का निर्माण किया गया है और सफाईकर्मियों की संख्या दोगुनी रहेगी, ताकि स्वच्छता बरकरार रहे। पिछले कुंभ मेला में केवल 34,000 शौचालय थे।” हालांकि सैंकड़ों शौचालय काम करने की हालत में ही नहीं है, क्योंकि पानी की कमी है, या गंदा होने के बाद सफाई नहीं की गई है, जबकि आधिकारिक रूप से मेला शुरू भी नहीं हुआ है। कई शौचालयों का पलस्तर निकल गया है, जिससे ये किसी काम के नहीं रह गए हैं।

सिलेंडर फटने से लग गई थी आग:

के. पी. सिंह ने कहा, “कुछ समस्याएं हैं, क्योंकि एक महीने की अवधि में सारी तैयारियां की गई हैं। समय की कमी के कारण ऐसी चीजें होती हैं, लेकिन हम आगंतुकों की सेवा को लेकर प्रतिबद्ध हैं।
आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सोमवार को कुंभ कांप्लेक्स के सेक्टर 13 में दिगंबर अखाड़ा में एक गैस सिलिंडर फटने से आग लग गई थी। हालांकि इसमें कोई हताहत नहीं हुआ। इस आग की घटना के बाद हुई प्रेस वार्ता में अधिकारियों ने कहा, “हमने कम से कम समय में बिना किसी के हताहत हुए आग बुझाने में सफलता प्राप्त की. अग्निशमन विभाग और एनडीआरएफ के कर्मियों की पर्याप्त संख्या में तैनाती की गई है।” कुंभ मेला के दौरान 500 से अधिक सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। यह मेला 15 जनवरी से चार मार्च तक चलेगा।


Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More