THE ADDA | Hindi News - Breaking News, Viral Stories, Indian Political News In Hindi

ब्यूटी पेजेंट : छोटे शहर की लड़कियों का बड़ा ख्वाब

तमिलनाडु की अनुक्रिती वास बनी इस बार की फेमिना मिस इंडिया

Mumbai: Miss India 2017 winner Manushi Chhillar, 1st runner up Sana Dua and 2nd runner up Priyanka Kumari pose for lensmen after their crowning in Mumbai on Monday night. PTI Photo (PTI6_28_2017_000187B)
1,630

सौंदर्य स्पर्धा – यह नाम सुनते ही कहीं न कहीं लड़कियों की आँखों में एक अलग सी चमक आ जाती है। बहुत सी लड़कियाँ इसका  हिस्सा बनना चाहती है और इन्हें जीतना चाहती है। चाहे वो किसी बढ़े शहर की हो या फिर छोटे से गाँव की। हमारे ही देश का उद्हारण ले लेते हैं , ज़्यादातर सौंदर्य स्पर्धा जीतने वाली लड़कियाँ छोटे शहरों की ही है। पिछले साल मिस वर्ल्ड बनी मानुषी चिल्लर भी हरियाणा के ही एक छोटे शहर रोहतक की है। वहीं खूबसूरती की मल्लिका कही जाने वाली ऐश्वर्य राय बच्चन जिन्होंने अपनी सुंदरता , बुद्धि और आत्मविश्वास से १९९४ में मिस वर्ल्ड का ख़िताब अपने नाम किया। वह भी कर्नाटका के शहर मेंगलोर से हैं।

क्या है सौंदर्य स्पर्धा ?

miss-india-beauty-pageants-big-dream-of-small-city-girs

कुछ लोग समझते हैं कि सौंदर्य स्पर्धा खूबसूरती का मुकाबला है। वह लोग मानते हैं कि यह स्पर्धा केवल उन लोगों के लिए है जो कि देखने में खूबसूरत है। लेकिन ऐसा बिलकुल नहीं है। सौंदर्य स्पर्धा में आपकी खूबसूरती से ज़्यादा आपकी बुद्धि , आत्मविश्वास और व्यक्तित्व की ज़रुरत है। सौंदर्य स्पर्धा कुछ लोगों के लिए तमाशा है। लोग ऐसी प्रतियोगिताओ को उनके शारीरिक मापदंडों से जज करते है। सौंदर्य स्पर्धा कोई तमाशा नहीं है बल्कि एक प्रतियोगिता है जिसमें शक्ल से ज़्यादा अक्ल और आपके व्यक्तित्व का महत्व है।

६३ सालों बाद मिस वर्ल्ड सौंदर्य स्पर्धा से बिकनी राउंड को भी हटा दिया गया है।

मिस वर्ल्ड की अध्यक्ष जूलिया मोरली का कहना था कि ‘इस राउंड से न ही प्रतियोगिता में हिस्सा ले रही महिलाओं को कोई फ़ायदा पहुँचता है और न ही इससे हम उनकी कोई योग्यता देख पाते है।
ऐसी प्रतियोगिताओं को जीतने के लिए आपका बुद्धिमान होना बहुत ही ज़रूरी है। ऐसी प्रतियोगिताओं को जीतने वाली बहुत सी लड़कियाँ या तो डॉक्टर रहीं है या फिर डॉक्टरी की पढ़ाई कर रहीं होती हैं। पिछले साल मिस वर्ल्ड बनी मानुषी चिल्लर इसका एक अच्छा miss-india-beauty-pageants-big-dream-of-small-city-girsउदाहरण है जो कि एम्.बी.बी.एस के दूसरे साल में थी। वही हमारे देश से पहली बार मिस वर्ल्ड बनीं थी रेयता फरिआ जो कि एक डॉक्टर थी। ऐसी प्रतियोगिताओं में उन्हीं का हथकंडा रहता है जो कि सवालों का जवाब अपने मन और दिमाग से देने में माहिर हो। ऐश्वर्या राय का वो जवाब जब मिस वर्ल्ड १९९४ के आखिरी राउंड में उनसे पूछा गया था कि आप अपने मरने से पहले क्या करना चाहेंगी और उन्होंने बहुत ही सरलता से कहा वह अपने मरने से पहले अपने नेत्र दान करना चाहेंगी ताकि उनके मरने के बाद भी उनके नेत्र इस संसार में जीवित रहे। यह जवाब सुनकर कोई भी अनुमान लगा देता कि ऐश्वर्य राय ही १९९४ मिस वर्ल्ड की विजेता बनेंगी।

सौंदर्य स्पर्धा का बॉलीवुड कनेक्शन :

miss-india-beauty-pageants-big-dream-of-small-city-girs

वैसे यह कहना गलत नहीं होगा की ज़्यादातर सौंदर्य स्पर्धाओं में जीतने वाली या फिर हिस्सा बनने वाली महिलाएँ आज बॉलीवुड का एक बड़ा हिस्सा है। कुछ लड़कियाँ ऐसी स्पर्धाओं में भाग लेने को बॉलीवुड में सीधी एंट्री का एक ज़रिया समझती है। ऐसी कई अभिनेत्रियाँ है जो मिस इंडिया बनने के बाद बॉलीवुड में आई है। जैसे कि प्रियंका चोपड़ा ने २००० में मिस वर्ल्ड बनने के बाद ही २००३ में द हीरो:लव स्टोरी ऑफ़ ए स्पाई से बॉलीवुड में डेब्यु किया। वहीं नेहा धूपिया ने भी २००२ में फेमिना मिस इंडिया बनने के बाद २००३ में एक्शन थ्रिलर फिल्म क़यामत:सिटी अंडर थ्रेट से बॉलीवुड में कदम रखा। ऐश्वर्या राय बच्चन ने भी १९९४ में मिस वर्ल्ड जीतने के बाद १९९७ में और प्यार हो गया से बॉलीवुड में कदम रखा। पर कहा जाता है कि ऐश्वर्य राय को मिस वर्ल्ड बनने से पहले राजा हिंदुस्तानी में करिश्मा कपूर की जगह कास्ट किया जाना था। पर उन्होंने यह प्रस्ताव ठुकरा दिया था। आजकल  सुनने में आ रहा है कि पिछले साल २०१७ में भारत को मिस वर्ल्ड का ख़िताब दिलाने वाली मानुषी चिल्लर भी जल्द ही बॉलीवुड के दबंग सलमान खान के साथ बॉलीवुड में डेब्यू करने वाली है।

ब्यूटी पेजेंट का पागलपन :

miss-india-beauty-pageants-big-dream-of-small-city-girs

कुछ लड़कियों को सौंदर्य स्पर्धाओं को जीतने का इतना खुमार हो जाता है कि ऐसी प्रतियोगिता में उन्हें हार इस कदर निराश कर देती है कि वह डिप्रेशन का शिकार हो  जाती है। ऐसी प्रतियोगिताओं में हारने से वह अपने आप को दूसरों से कम आकना शुरू कर देती हैं। उनका  आत्मविश्वास बढ़ने के बजाय घटते चला जाता है। कुछ लोग तो अपनी पूरी ज़िन्दगी ऐसी प्रतियोगिताओ के पीछे भागने में लगा देते है और जब उनके हाथ कुछ नहीं आता तो वह खुद को कोसने लग जाते है। कुछ लड़कियाँ अपने से खूबसूरत लड़कियों को देख कर घबरा जाती है और प्रतियोगिता से भागना शुरू कर देती है। ऐसा कहा जाता है कि १९९४ में हुए मिस इंडिया के प्रतियोगिता में जब कुछ लड़कियों ने ऐश्वर्या राय की खूबसूरती और अंदाज को देखा तो घबराकर उन्होंने प्रतियोगिता से अपना नाम वापस ले लिया था। ऐसे और भी कई किस्से है जिससे इन प्रतियोगिताओं के प्रति लड़कियों का पागलपन दिखाई देता है जिनकी ज़िन्दगी का लक्ष्य केवल ऐसी सौंदर्य स्पर्धाओं को जीतना है।

 

फेमिना मिस इंडिया २०१८ :beauty pageant

अब बात की जाए  फेमिना मिस इंडिया २०१८ की तो यह १९,जून ,२०१८ को देश की राजधानी दिल्ली के सरदार वल्लभभाई पटेल इंदौर स्टेडियम में रखा गया था। फेमिना मिफेस इंडिया २०१८ फेमिना मिस इंडिया सौंदर्य स्पर्धा का ५५वां संस्करण था। २९ राज्यों के विजेता और राजधानी के विजेता वहाँ पहुँचे। मानुषी चिल्लर-मिस वर्ल्ड २०१७ , के.एल.राहुल और इरफ़ान पठान -भारतीय क्रिकेटर , बॉबी देओल,कुनाल कपूर-भारतीय अभिनेता , गौरव गुप्ता – भारतीय फैशन डिज़ाइनर , फाए डीसूज़ा – भारतीय पत्रकार इस प्रतियोगिता के जज बने।

फेमिना मिस इंडिया २०१८ बनी, तमिल नाडु की अनुक्रिती वास जिन्हें मिस वर्ल्ड २०१७ मानुषी चिल्लर ने ताज पहनाया।और वहीं हरियाणा की मीनाक्षी चौधरी बनी पहली रनर अप और आंध्र प्रदेश की श्रेया राओ कमावरापु बनी फेमिना मिस इंडिया २०१८ की दूसरी रनर अप ।

अब यह तीनों अलग-अलग पैमानें पर भारत को विश्व में प्रतिनिधित्व करेंगी।


यह भी पढ़ें – 

Loading...

Loading...

- Advertisement -

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More