THE ADDA
THE ADDA: Hindi News, Latest News, Breaking News in Hindi, Viral Stories, Indian Political News

भारत के नीरज चोपड़ा ने रचा इतिहास, 20 साल की उम्र में जीता गोल्ड मेडल

2010 में हुए एशियाई खेलों में जीता था स्वर्ण पदक

3,984
SHEIN -Your Online Fashion Jumpsuit

एशियाई खेलों का दौर चल रहा है। इसमें भारत अपना शानदार प्रदर्शन करने की लगातार कोशिश कर रहा है। भारत को इसमें कुछ हद तक कामयाबी भी मिली है। भारत के स्टार भाला फेंक एथलीट नीरज चोपड़ा ने भारत का सिर गर्व से ऊँचा कर दिया है। दरअसल भारत के लिए नीरज ने एशियाई खेलों में 8वाँ गोल्ड मेडल जीता। खेल के 9वें दिन नीरज ने 88.06 मीटर भला फेंककर इतिहास रच दिया। आपकी जानकारी के लिए बता दें एशियाई खेलों में इससे पहले इस प्रतियोगिता में भारत को कभी स्वर्ण पदक नहीं मिला था।

मुक़ाबले में पूरे जोश के साथ फेंका भाला:

neeraj chopra asian games
neeraj chopra (asian games)

इस वजह से यह जीत भारत के लिए और भी मायने रखती है। 1951 में दिल्ली में खेले गए एशियाई खेलों में भारत के पारसा सिंह को सिल्वर मेडल मिला था। इसके बाद 1982 में हुए एशियाई खेलों में जो पुनः दिल्ली में हुआ था, इसमें भारत के गुरजेत सिंह को ब्रांज मेडल मिला था। आपको बता दें नीरज चोपड़ा ने कॉमनवेल्थ गेम्स में भी गोल्ड मेडल जीता था। उस समय नीरज ने 86.47 मीटर भाला फेंका था। नीरज ने इस तरह से जाकार्ता में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 88.06 मीटर भाला फेंककर स्वर्ण पदक अपने नाम किया। इस मुक़ाबले में नीरज ने पूरे जोश और ताक़त के साथ भाला फेंका था।

पहले स्थान पर बना हुआ है चीन:

neeraj chopra asian games
neeraj chopra (asian games)
SHEIN -Your Online Fashion Blouse

- Advertisement -

पहली बार में नीरज ने 83.46 मीटर भाला फेंका था, जबकि दूरी बार वो फ़ाउल हो गए। तीसरे प्रयास में नीरज ने 88.06 मीटर भाला फेंका। चौथी कोशिश में 83.25 मीटर, पाँचवी बार में 86.63 मीटर भाला फेंका था। जबकि छठवीं बार नीरज फिर से फ़ाउल हो गए। दूसरे स्थान पर रहकर रजत पदक जीतने वाले चीन के किझेन लियू ने 82.22 मीटर भाला फेंका था। हालाँकि अभी भी एशियाई खेलों में सबसे आगे चीन ही है। आपको जानकर हैरानी होगी कि चीन के पास सोमवार तक 86 गोल्ड मेडल, 62 सिल्वर मेडल और 43 ब्रांज मेडल मिलाकर कुल 191 मेडल हैं। वहीं भारत के पास 8 गोल्ड मेडल, 13 सिल्वर और 20 ब्रांज मेडल के साथ कुल 41 मेडल था।

 

2010 में हुए एशियाई खेलों में जीता था स्वर्ण पदक:

neeraj chopra asian games

एशियाई खेलों के नौवें दिन भारतीय खिलाड़ियों के रजत पदक जितने का सिलसिला जारी रहा। केरल की नीना वरक्कल महिलाओं की लम्बी कूद स्पर्धा में दूसरे पायदान पर रहीं। सोमवार को हुए फ़ाइनल मुक़ाबले में नीना ने 6.51 मीटर के साथ रजत पदक पर अपना क़ब्ज़ा जमाया था। वहीं रायबरेली की धाविका सुधा सिंह ने महिलाओं की 3000 मीटर स्टीपलचेज स्पर्धा के फ़ाइनल मुक़ाबले में रजत पदक जीता। सुधा ने 9 मिनट 40.03 सेकेंड में दूरी तय करते हुए मुक़ाबले में दूसरा स्थान हासिल किया। आपको बता दें 2010 में हुए एशियाई खेलों में सुधा ने स्वर्ण पदक जीता था।

 

फ़ाइनल में पहुँचने वाली बन गयी हैं पहली भारतीय खिलाड़ी:

तमिलनाडु के 21 साल के एथलीट धरूण अय्यसामी ने पुरुषों की 400 मीटर बाधा दौड़ स्पर्धा में फ़ाइनल में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए राष्ट्रीय रिकार्ड के साथ रजत पदक पर अपना क़ब्ज़ा जमाया। धरूण ने 48.96 सेकेंड में दूरी तय करते हुए दूसरा स्थान हासिल किया। वहीं भारत की स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु ने भी महिला सिंगल्स का दूसरा सेमीफ़ाइनल जीतकर फ़ाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली है। सिंधु ने जापान की अकाने यामागुची को मुक़ाबले में 21-17, 15-21, 21-10 से हराया। इसके साथ ही सिंधु भी एशियाई खेलों के फ़ाइनल में पहुँचने वाली पहली भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी बन गयी हैं।

 


यह भी पढ़े: 

 

 

 

 

Loading...
Loading...

- Advertisement -

SHEIN -Your Online Fashion Blouse

- Advertisement -

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More