THE ADDA
THE ADDA: Hindi News, Latest News, Breaking News in Hindi, Viral Stories, Indian Political News

भारत के वार्ता रद्द करने के बाद ख़ुद को शांति दूत बताने में जुटा पाकिस्तान

मुद्दों को नज़र अन्दाज़ करना उन्हें ख़त्म करना नहीं होता

19
SHEIN -Your Online Fashion Jumpsuit

भारत की तरफ़ से विदेश मंत्री स्तर की वार्ता को रद्द किए जानें के बाद पाकिस्तान इस मुद्दे को अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर भुनाने में जुट गया है। पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी का कहना है कि भारत के न चाहने के बाद भी वह क्षेत्र में शांति प्रयासों की बहाली में जुटा रहेगा। बता दें पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान के साथ बातचीत की भारत की अनिच्छा के बावजूद इस्लामाबाद क्षेत्र में शांति को बढ़ावा देने के अपने प्रयासों को नहीं रोकेगा। अब पाकिस्तान ख़ुद को शांति का दूत बताने में जुटा हुआ है।

 

पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद आग बबूला हो गया भारत:

बता दें पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी का यह बयान नई दिल्ली की तरफ़ से न्यूयॉर्क में विदेश मंत्री स्तरीय मुलाक़ात रद्द करने के कुछ दिन बाद ही आया है। वाशिंगटन में पाकिस्तानी दूतावास में रविवार को संवाददाता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए क़ुरैशी ने कहा कि भारत सितम्बर में जिस शांति वार्ता के लिए सहमत हुआ था, उसे रद्द करने के लिए जुलाई में हुई घटनाओं का इस्तेमाल किया। आपको बता दें शुक्रवार को जम्मू कश्मीर में 3 पुलिसकर्मियों की बर्बरता से हत्या कर दी गयी थी। इसके बाद भारत आग बबूला हो गया।

 

मुद्दों को नज़र अन्दाज़ करना उन्हें ख़त्म करना नहीं होता:

जानकारी के अनुसार कश्मीर में 3 पुलिसकर्मियों की हत्या और पाकिस्तान द्वारा कश्मीर के आतंकी बुरहान वानी का महिमामंडन करते हुए डाक टिकट जारी करने के बाद भारत ने अपना फ़ैसला बदल दिया। इसी को आधार बनाकर न्यूयॉर्क में इसी महीने संयुक्त राष्ट्र महासभा के इतर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और पाकिस्तानी विदेश मंत्री क़ुरैशी के बीच होने वाली बैठक को रद्द कर दिया था। क़ुरैशी ने कहा, भारत अनिच्छुक है, लेकिन हम अपने दरवाज़े बंद नहीं करेंगे। पाकिस्तान के प्रमुख अंग्रेज़ी अख़बार डॉन ने उनके हवाले से कहा, मुद्दों को नज़रअन्दाज़ करना उन्हें ख़त्म करना नहीं होता। इससे कश्मीर की स्थिति में सुधार नहीं होगा।

 

पाकिस्तान ने किया भारत को नीचा दिखाने का पूरा प्रयास:

पाकिस्तानी विदेश मंत्री क़ुरैशी ने कहा कि वह पाकिस्तान के साथ शांति वार्ता में भाग लेने से भारत के इनकार को समझ नहीं पा रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि, बातचीत, बातचीत नहीं। आ रहे हैं, नहीं आ रहे हैं। हमारी बातचीत की इच्छा थी, क्योंकि हमारा मानना है कि समझदारी भरा रास्ता मिलना और बातचीत करना है। वे सहमत हुए फिर असहमत हुए। क़ुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान शांति प्रस्ताव पर भारत की प्रतिक्रिया कठोर और ग़ैर राजनयिक थी। क़ुरैशी ने भारत को नीचा दिखाने का पूरा प्रयास किया।

 

SHEIN -Your Online Fashion Blouse

- Advertisement -

युद्ध की बात ही कौन कर रहा है?

क़ुरैशी ने आगे कहा कि, हमने अपने प्रत्युत्तर में ग़ैर राजनयिक भाषा का इस्तेमाल नहीं किया। हमारा जवाब परिपक्व और नपा-तुला था। उन्होंने नया रूख अपनाया और पलट गए। विदेश मंत्री ने आरोप लगाया कि सुषमा स्वराज की भाषा और सुर विदेश मंत्री जैसे पद पर शोभा नहीं देता है। जब क़ुरैशी से यह पूछा गया कि क्या भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव दोनों देशों के बीच युद्ध का कारण बन सकता है तो क़ुरैशी ने कहा कि युद्ध की बात कौन कर रहा है? हम तो नहीं कर रहे हैं। हम शांति स्थिरता, रोज़गार और बेहतर जीवन चाहते हैं। आप पहचानिए अनिच्छुक कौन है?

 

कश्मीर में लड़ने वाले सभी आतंकवादी नहीं है:

क़ुरैशी का कहना है कि पाकिस्तान की शांति की इच्छा को भूलवश कमज़ोरी का संकेत नहीं मानना चाहिए। उन्होंने कहा, हम शांति चाहते हैं। इसका मतलब यह नहीं है कि हम आक्रामकता के ख़िलाफ़ ख़ुद की रक्षा नहीं कर सकते हैं। लेकिन हमारी आक्रामक मानसिकता नहीं है। क़ुरैशी ने मारे गए कश्मीरी आतंकवादी का महिमामंडन करने वाले डाक टिकटों को जारी करने पर भारत की चिंता को ख़ारिज किया और कहा कि हज़ारों लोग कश्मीर में लड़ रहे हैं, उनमें से सभी आतंकवादी नहीं है।

 

दोस्ती का हाथ बढ़ाकर पीठ में ख़ंजर घोपना पुरानी आदत:

विदेश मंत्री ने करतारपुर साहिब गलियारे को खोलने के पाकिस्तान के प्रस्ताव को दोहराया ताकि भारत के सिख तीर्थयात्रियों को गुरु नानक देव की 550वीं जयंती पर इस ऐतिहासिक गुरुद्वारे में जानें का अवसर मिले। पाकिस्तान की चालबाज़ी से कोई अपरिचित नहीं है। एक तरफ़ पाकिस्तान दोस्ती का हाथ बढ़ाता है तो दूसरी तरफ़ पीठ में ख़ंजर घोप देता है। इस बार भी पाकिस्तान ने ऐसा ही किया। लेकिन मीडिया में दिए गए बयानों से ऐसा जताने की कोशिश कर रहा है कि ग़लती पाकिस्तान की तरफ़ से नहीं बल्कि भारत की तरफ़ से हुई है। जबकि पाकिस्तान की सच्चाई पूरी दुनिया को पता है।


इसे भी पढ़ें:-

Loading...
Loading...

- Advertisement -

SHEIN -Your Online Fashion Blouse

- Advertisement -

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More