THE ADDA | Hindi News - Breaking News, Viral Stories, Indian Political News In Hindi

राजस्थान चुनाव: JNU में कंडोम की सही गिनती करने वाले ज्ञानदेव का भाजपा ने काटा टिकट

JNU में हर रोज़ 50 हज़ार मिलते हैं हड्डी के टुकड़े

0 5,265

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

राजस्थान में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा ने अपने 31 उम्मीदवारों की दूसरी सूची जारी कर दी है। इस सूची में भाजपा ने 15 विधायक और 3 मंत्रियों के टिकट काटकर नए चेहरों को मैदान में उतारा है। बता दें भाजपा ने जिन मंत्रियों और विधायकों के टिकट काटे हैं, उनमें से एक भाजपा के ज्ञानी विधायक ज्ञानदेव भी हैं। आपको बता दें यह वही ज्ञानदेव आहूजा हैं, जिन्होंने JNU में कंडोम की सही गिनती की थी। आपकी जानकारी के लिए बता दें ज्ञानदेव ने दावा किया था कि JNU में हर रोज़ 3000 कंडोम मिलते हैं।

 

50 हज़ार मिलते हैं हड्डी के टुकड़े:

rajasthan-assembly-elections-2018-bjp-denied-ticket-15-mlas-3-ministers-controversial-statements

बता दें 2016 में ज्ञानदेव ने विवादित बयान देते हुए दावा किया था कि JNU में हर रोज़ 50 हज़ार हड्डी के टुकड़े, 3 हज़ार इस्तेमाल कंडोम और 500 अबॉर्शन के इंजेक्शन मिलते हैं। उन्होंने यह भी कहा था कि JNU में हर रोज़ 10 हज़ार सिगरेट के बड भी मिलते हैं। केवल यही नहीं उन्होंने यहाँ के छात्रों पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों में नेकेड (नंगा) डांस करने का भी आरोप लगाया था। वहीं राजस्थान सरकार में ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज्यमंत्री धनसिंह रावत का भी हमेशा विवादों से नाता रहा है। ये भी अपने बयानों को लेकर हमेशा चर्चा में रहते हैं।

 

कांग्रेस है मुसलमानों की पार्टी:

हाल ही में धनसिंह रावत ने बाँसवाड़ा की सभा में कांग्रेस को मुसलमानों और भाजपा को हिंदुओं की पार्टी बताया था। इस दौरान उन्होंने हिंदुओं से सनातन धर्म की रक्षा के लिए भाजपा के समर्थन में प्रचंड मतदान करने की अपील की थी। इससे पहले पिछले साल नवम्बर में ही उन्होंने बाँसवाड़ा में अधिकारियों को मुर्ग़ा बनाने का विवादित बयान दिया था। इसके अलावा उन्होंने ज़िला परिषद की साधारण बैठक में विकास अधिकारियों के लिए कहा था कि ये अरबी घोड़े हैं, इनको चाबुक मारो।

 

कार्यकर्ताओं की उपेक्षा भी आरोप:

इसके अलावा राजस्थान सरकार में खाद्य मंत्री बाबूलाल वर्मा से भी भाजपा नाराज़ चल रही थी। हाल ही में उन्होंने कहा था कि अब मोदी लहर नहीं है। लिहाज़ चुनाव जितना आसान नहीं है। वर्मा पर कार्यकर्ताओं की उपेक्षा करने का भी आरोप है। वहीं सरकार में मंत्री राजकुमार रिणवा ने हाल ही में पेट्रोल की बढ़ती क़ीमतों पर विवादित बयान दिया था। रिणवा ने कहा था कि बाढ़ आ रही है, उसमें पैसे नहीं लगते हैं क्या? उन्होंने यह भी कहा था कि पेट्रोल की क़ीमतों में तेज़ी तो सबको दिख रही है, लेकिन बाढ़ के ख़र्चे नहीं दिख रहे हैं।

 

यहाँ नेशनल कैरेक्टर नाम की कोई चीज़ ही नहीं है:

rajasthan-assembly-elections-2018-bjp-denied-ticket-15-mlas-3-ministers-controversial-statements

इस दौरान रिणवा ने भारतीयों के चरित्र पर भी उंगली उठाई थी। उन्होंने कहा था, ‘यहां नेशनल कैरेक्टर नाम की कोई चीज ही नहीं है। दूसरे देशों में प्राकृतिक आपदा आने या पेट्रोल की कीमतें बढ़ने पर खर्चे कम कर देते हैं, लेकिन हमारे यहां तो ऐसा कुछ भी नहीं है।’ बता दें कि बीजेपी की दूसरी सूची से जिन मंत्रियों के नाम गायब हैं, उनमें मंत्री राजकुमार रिणवा, मंत्री बाबूलाल वर्मा और मंत्री धन सिंह रावत शामिल हैं। देवस्थान मंत्री राजकुमार रिणवा चुरू जिले की रतनगढ़ सीट से विधायक हैं, लेकिन इस बार उनका टिकट काटकर अभिनेष महर्षि को उतारा गया है।

 

मंत्रियों के साथ कटे हैं विधायकों के भी टिकट:

बीजेपी की दूसरी सूची में वर्तमान मंत्रियों के साथ जिन विधायकों के टिकट कटे हैं, उनमें सबसे चर्चित नाम अलवर जिले के रामगढ़ से विधायक ज्ञानदेव आहूजा का है। आहूजा के अलावा किशनाराम नाई विधायक डूंगरगढ़, लक्ष्मीनारायण बैरवा विधायक चाकसू, आरसी सुनेरीवाल विधायक डग, जीतमल खांट विधायक गढ़ी, रानी कोली विधायक बसेड़ी, शैतान सिंह विधायक पोकरण, तरुण राय कागा विधायक चौहटन, छोटू सिंह भाटी विधायक जैसलमेर, कृष्ण कड़वा विधायक संगरिया, गीता वर्मा विधायक सिकराय, राजकुमारी जाटव विधायक हिण्डौन, मंगला राम विधायक कठूमर, रानी सिलोटिया विधायक बसेड़ी और शिमला बावरी विधायक अनूपगढ़ शामिल हैं।

 

 


 

Loading...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Loading...

- Advertisement -

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More