THE ADDA
THE ADDA: Hindi News, Latest News, Breaking News in Hindi, Viral Stories, Indian Political News

एग्जिट पोल में कांग्रेस ने राजस्थान में मारी बाज़ी, लेकिन मुख्यमंत्री कौन?

0 205

राजस्थान में चुनाव हो गए हैं। शुक्रवार को आए एग्जिट पोल के नतीजों के अनुसार राजस्थान में कांग्रेस बाज़ी मारती हुई दिख रही है। लेकिन यही कांग्रेस की मुसीबतें ख़त्म नहीं होने वाली हैं। असली माथा-पच्ची अब शुरू होगी। 11 दिसंबर को जैसे ही नतीजे आएँगे, कांग्रेस सरकार बनाएगी, लेकिन मुख्यमंत्री कौन होगा? यह अभी तक साफ़ नहीं हुआ है। इसपर अभी तक कोई भी खुलकर बोलने को तैयार नहीं है। हालांकि, यह बात तय है कि अशोक गहलोत या फिर सचिन पायलट में से ही कोई एक राजस्थान में कांग्रेस की ओर से मुख्यमंत्री पद का दावेदार होगा। साथ ही जब तक नतीजों की घोषणा नहीं हो जाती, कांग्रेस पार्टी यह फैसला सुरक्षित रखना चाहती है।

 

सवालों का जवाब देने सी बचे अशोक गहलोत:

rajasthan-assembly-exit-poll-who-will-be-rajasthan-cm-face-in-congress-ashok-gehlot-replied-question

दरअसल, पिछले महीने चुनावी समीकरणों को साधने के लिए कांग्रेस ने अशोक गहलोत और सचिन पायलट में से किसी एक को चुनाव से पहले सीएम फेस के रूप में चुनने से इनकार कर दिया था। यहां तक की 67 वर्षीय अशोक गहलोत भी इस सवाल का जवाब देने से बचे। जब आशिक़ गहलोत से यह पूछा गया कि आखिर राजस्थान में कांग्रेस का दूल्हा कौन होगा? इस पर दो बार मुख्यमंत्री रहे अशोक गहलोत ने कहा कि इस सवाल से मुझे हर दिन सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद से पार्टी ने कभी राज्य में चुनाव से पहले मुख्यमंत्री उम्मीदवार की घोषणा नहीं की है। अशोक गहलोत ने कहा कि मेरी कोई प्राथमिकता नहीं है। अगर मुझे पार्टी दिल्ली में काम करने को बोलेगी तो मैं दिल्ली में काम करूंगा और राजस्थान में कहेगी तो मैं राजस्थान में ही काम करूंगा।

 

पार्टी जो बोले वही करना चाहिए:

उन्होंने कहा कि हाई कमांड ही है जो काम का निर्धारण करेगी। मेरे लिए कोई पद की कोई प्रायोरिटी नहीं है। मेरा मानना है कि किसी के लिए भी प्रायोरिटी नहीं होनी चाहिए। पार्टी जो बोले वही करना चाहिए। यह पूछे जाने पर कि क्या उन्हें लगता है कि 41 वर्षीय सचिन पायलट, जो राज्य के कांग्रेस अध्यक्ष भी हैं, एक अच्छा मुख्यमंत्री हो सकते हैं या फिर कुछ और अनुभव की आवश्यकता होगी, इस सवाल पर अशोक गहलोत ने काफी नापतौल कर जवाब दिया। उन्होंने कहा कि यह एक हाईपोथेटिकल सवाल है। मैं किसी की क्षमताओं पर कोई प्रश्न चिह्न नहीं लगाऊंगा। आपको मुझसे यह नहीं पूछना चाहिए।

 

 


 

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More