THE ADDA
THE ADDA: Hindi News, Latest News, Breaking News in Hindi, Viral Stories, Indian Political News

योगी सरकार अयोध्या में बनवाएगी श्री राम की 151 मीटर ऊँची तांबे की प्रतिमा

मंदिर को लेकर इंतज़ार हो गया काफ़ी लम्बा

0 86

सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मामले की सुनवाई टालने के बाद से ही राम मंदिर को लेकर सियासी हलचल काफ़ी तेज़ हो गयी है। इसी बीच यह ख़बर आयी है कि योगी सरकार अयोध्या में राम की 151 मीटर ऊँची तांबे की प्रतिमा बनवाएगी। इस प्रतिमा को 36 मीटर के चबूतरे पर रखा जाएगा। आपकी जानकारी के लिए बता दें पिछेल साल ही योगी सरकार ने 100 मीटर ऊँची श्रीराम की प्रतिमा लगाने की योजना का ऐलान किया था। उस समय नवी अयोध्या योजना के तहत धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए योगी सरकार ने राज्यपाल राम नाईक को प्रपोज़ल भी दिखाया था।

दिवाली पर देने जा रहे हैं योगी ख़ुशख़बरी:

योगी सरकार

बता दें पर्यटन विभाग की तरफ़ से भगवान राम की प्रतिमा को लेकर मई 2018 में योजना बनाई गयी थी। नया अयोध्या योजना के तहत सरयू नदी के किनारे प्रतिमा को स्थापित किया जाएगा। इस पर 330 करोड़ रुपए तक ख़र्च करने का नुमा है। इसके साथ ही सरकार रामकथा गैलरी, पर्यटकों के ठहरने के स्थल, सुरक्षा की दृष्टि से सीसीटीवी कैमरा, पुलिस बूथ, आवागमन के साधन सहित अन्य नागरिक सुविधाएँ जैसे शौचालय तथा जल निकासी की समुचित व्यवस्था करेगी। इससे पहले यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि वो इस दिवाली पर अयोध्या को लेकर ख़ुशख़बरी देने जा रहे हैं।

बनाई है अयोध्या को लेकर एक नयी योजना:

आपकी जानकारी के लिए बता दें पिछले साल योगी सरकार की ओर से अयोध्या में 100 मीटर ऊंची भगवान राम की प्रतिमा लगाने की घोषणा की गई थी है। इस संबंध में तब योगी सरकार ने एक प्रस्ताव बनाकर राज्यपाल राम नाईक को भी दिखाया था। उस समय प्रस्ताव में बताया गया था कि अयोध्या को पर्यटन मानचित्र पर ऊभारने के लक्ष्य से सरयू तट पर भगवान राम की भव्य प्रतिमा का निर्माण पर्यटन विभाग कराएगा। इसके लिये राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (एनजीटी) से अनापत्ति प्रमाणपत्र प्राप्त लिया जाएगा। वहीं शुक्रवार को उत्तर प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय ने दावा किया कि मुख्यमंत्री के साथ बड़े संत भी हैं। निश्चित रूप से उन्होंने अयोध्या के लिए योजना बनाई है।

मंदिर को लेकर इंतज़ार हो गया काफ़ी लम्बा:

ram-mandir-bjp-president-mahendra-nath-pandey-uttar-pardesh-yogi-adityanath

बता दें मुख्यमंत्री योगी ने यह भी कही था कि संत समाज तो धैर्य रखने वाला है, उन्हें थोड़ा और धैर्य रखने की जरूरत है। इधर राम मंदिर के मसले पर तेजी आई है। आरएसएस समेत हिंदूवादी संगठनों ने आक्रामक रुख अपना लिया है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह भैयाजी जोशी ने शुक्रवार को कहा कि जरुरत पड़े तो फिर से 1992 की तरह राम मंदिर के लिए आंदोलन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि राम मंदिर को लेकर इंतजार काफी लंबा हो गया है।

अमित शाह ने की मोहन भागवत से मुलाक़ात:

भैयाजी जोशी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने जिस तरीके से राम मंदिर पर फैसला दिया उसे हम सब चकित हैं और इस टिप्पणी से हिन्दुओं की भावनाओं को ठेस पहुंची है। उन्होंने कहा कि राम मंदिर को लेकर 30 साल से आंदोलन चल रहा है और कोर्ट को हिन्दुओं की भावनाओं का ख्याल रखना चाहिए। राम मंदिर के लिए अध्यादेश के सवाल पर जोशी ने कहा कि अध्यादेश पर फैसला सरकार को करना है। उन्होंने कहा कि राम सबके हृदय में रहते हैं पर वो प्रकट होते हैं मंदिरों के द्वारा। उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं मंदिर बने। बता दें बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने गुरुवार को रात दो बजे मुंबई के रामभाऊ महालगी प्रबोधनी में संघ प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात की। इस दौरान संघ प्रमुख और शाह के बीच कई अहम मुद्दों पर चर्चा हुई।


Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More