THE ADDA | Hindi News - Breaking News, Viral Stories, Indian Political News In Hindi

सेल्फी जहाँ जानलेवा है वहीँ सेहत के लिए अच्छा भी

सेल्फी लेने से कई सारे बेनिफिट्स होते है

1,304
सेल्फी यानी खुद पर इम्प्रेस होना. आज कल के लाइफस्टाइल में सेल्फी एक ट्रेंड बन चूका है. सेल्फी  के लिए आपको कोई स्पेशल फोटोग्राफी की कोर्स करने की जरूरत नहीं है. अच्छी सेल्फी के लिए कुछ क्लिक्स ही काफी है.  सेल्फी लेना अगर लत बन जाए तो मनोविज्ञानिक इसे एक मेंटल डिसऑर्डर भी कहते हैं. लेकिन सेल्फी के लवर्स के लिए इन बातों की ऐसी-तैसी.
 Selfie एक अच्छी सेल्फी आपके चेहर पर खुशी ला देती है. शीशे में भी हम अपने चहरे को इतनी करीब से नहीं देखते जितनी करीब से हम सेल्फी में अपने आपको देखते है. एक बार में अच्छी सेल्फी भला कब क्लिक होती है. कभी जरा गर्दन टेढ़ी कर, मोबाइल थोड़ा ऊपर कर जब डबल चिन छुप जाती है, उसपर तो कसम से प्यार आ जाता है. फिर उस फोटो को फोटो एडिटर में जाकर फोटो एडिट करना, फिल्टर लगाना, सोशल मीडिया पर पोस्ट करना. और तब जाकर कम्पलीट होती है एक अच्छी  सेल्फी की लाइफ.  
ये तो रही सेल्फी की कहानी, जो आजकल हर व्यक्ति की कहानी है. बहुत ही कम लोग होते हैं जिन्हें खुद पर प्यार नहीं आता यानी जो सेल्फी नहीं लेते. पर ऐसे बहुत से लोग हैं जिनके लिए सेल्फी लेना रोजाना ब्रश करने जैसा जरूरी हो गया है, जिसके बिना वो रह नहीं सकते.
अब तक हम सेल्फी से होने वाले नुकसानों के बारे में बात करते और सुनते आए हैं, कि ये एक तरह की बीमारी है, मेंटल डिसऑर्डर है आदि. लेकिन देखा जाए तो सेल्फी लेने में बीमारी जैसा कुछ भी नजर नहीं आता. 

सेल्फी लेने से कई सारे बेनिफिट्स होते है जैसे:

  •  सेल्फी आपके कई मोमेंट्स को कैप्चर कर यादगार बनता है. 

 

  •  सेल्फी बिना किसी खर्चे के लोगों को खुशी देती है. 

 

  •  Selfie  जितना टाइम हम सेल्फी लेने, उसे सजाने और उसे सोशल मीडिया पर पोस्ट में खर्च करते हैं, कम से कम उतने टाइम हमारे दिमाग में कोई और चीज नहीं होती. उस समय हम अपनी टेंशन भूल गए होते हैं, यानी टेंशन फ्री रहते हैं. तो ये कहाँ से बीमारी हुई.
  • सेल्फी कोई अच्छा दिखने के लिए ही लेता है, सेल्फी के लिए आप अपना ख्याल रखने लगते हैं. अपने बालों का, चेहरे का, अपने कपड़ों का.. हर चीज का जो सेल्फी में दिखाई देती है. सेल्फी आपको खुद के लिए सोचने का भी टाइम देती है. 
    • सेल्फी से आपकी सेल्फ कॉन्फिडेंस लेवल भी बढ़ती है. और अगर सेल्फी को सोशल मीडिया पर न भी डालें तो भी खुद को अच्छा देखकर अंदर से खुश होते हैं.
  • सेल्फी एक अच्छी माध्यम है लोगो से जुड़ने के लिए. सेल्फी अगर सोशल मीडिया पर डाली जाती है तो आप खुद को Selfie अकेला महसूस नहीं करते. लोग कमेंट और लाइक कर याद दिलाते है की वो भी आपके साथ है. 
अब तो एक बात मानने वाली है ही कि सेल्फी आपको खुशी देती है. इसलिए सेल्फी लेते रहो और खुशियां डबल करते रहो, लेकिन साथ ही ‘ डेयरिंग सेल्फी’ से बचो क्योंकि वो सेहत के लिए सच में हानिकारक हैं

यह भी पढ़े: 

 

 

Loading...

Loading...

- Advertisement -

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More