THE ADDA | Hindi News - Breaking News, Viral Stories, Indian Political News In Hindi

भारत में अब शुरू हो चुका है सेक्सटॉर्शन का खेल, नेट की ब्राउज़िंग हिस्ट्री हैक करके करते हैं ब्लैकमेल

पॉर्न वेबसाइट देखने के बाद ब्राउज़िंग हिस्ट्री पहुँच गयी अपराधियों के पास

0 4,391

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

आज के डिजिटल युग में कई तरह की डिजिटल ठगी के मामले सामने आ चुके हैं। पश्चिमी देशों में यह बहुत पहले से ही होता आ रहा है, लेकिन भारत में भी अब यह तेज़ी से बढ़ रहा है। पश्चिमी देशों में पहले से ही लोगों को शिकार बना रहा सेक्सटॉर्शन अब भारत में भी अपने क़दम रख चुका है। अब आप सोच रहे होंगे कि आख़िर ये सेक्सटॉर्शन किस चिड़िया का नाम है। चिंता मत कीजिए आपके इस सवाल का जवाब हम जल्दी ही देंगे।

 

ब्राउज़िंग डाटा से करता है ब्लैकमेल:

sextortion-cases-came-in-india-how-criminals-can-blackmail-you-for-browsing-history

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पिछले 2 महीने में मुंबई पुलिस को इसे लेकर कम से कम 5 शिकायतें मिल चुकी हैं। अब आपके सवाल सेक्सटॉर्शन क्या होता है और इसके ज़रिए कोई इंटरनेट पर ब्लैकमेल करके कैसे पैसे वसूलता है, के बारे में बताने जा रहे हैं। बता दें सेक्सटॉर्शन के ज़रिए कोई भी साइबर अपराधी आपके ब्राउज़िंग डाटा को हैक करता है। इसके बाद उसी डाटा को आधार बनाकर वह सम्बंधित व्यक्ति को ब्लैकमेल करता है।

 

पॉर्न वेबसाइट देखने के बाद ब्राउज़िंग हिस्ट्री पहुँच गयी अपराधियों के पास:

उदाहरण के लिए अगर किसी व्यक्ति ने कोई एडल्ट साइट देखी है तो, उसकी डिटेल को सार्वजनिक करने की धमकी देकर उससे पैसे वसूलने का काम किया जाता है। सेक्सटॉर्शन एक साइबर क्राइम है। अंग्रेज़ी के प्रसिद्ध अख़बार ‘द हिंदू’ के अनुसार मुंबई पुलिस को जो शिकायतें मिली हैं, उसमें पॉर्न वेबसाइट देखने के बाद उसकी ब्राउज़िंग हिस्ट्री साइबर अपराधियों के पास पहुँच गयी। पुलिस के अनुसार पिछले महीने दो महिलाएँ और तीन पुरुष इसकी शिकायत लेकर आ चुके हैं।

जानें कैसे अटल जी के एक फ़ैसले से रातोरात मुख्यमंत्री बने थे मोदी

पैसे की जगह करते हैं सेक्सुअल डिमांड:

sextortion-cases-came-in-india-how-criminals-can-blackmail-you-for-browsing-history

पीड़ित ने बताया कि पॉर्न वेबसाइट देखने के एक या दो दिन बाद उसके पास एक मेल आया। मेल में उसकी ब्राउज़िंग हिस्ट्री थी और इसके बदले में बिटक्वाइंस की माँग की गयी थी। साइबर अपराधी इसको कई तरीक़े से अंजाम देते हैं। कई बार लड़की बनकर आपसे जानकारी हासिल कर लेते हैं। वहीं कई बार भरोसे में लेकर आपसे इंटिमेट फ़ोटो की माँग की जाती है। कई बार पॉर्न वेबसाइट पर लिंक डालकर आपको क्लिक करने के लिए कहा जाता है। अपराधी कई बार पैसे की जगह सेक्सुअल डिमांड भी करते हैं।


इसे भी पढ़ें:-

Loading...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Loading...

- Advertisement -

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More