THE ADDA
THE ADDA: Hindi News, Latest News, Breaking News in Hindi, Viral Stories, Indian Political News

स्वामी ने बोले अपनी ही सरकार के ख़िलाफ़ बोल, कहा- भ्रष्टाचारियों को बचाने में लगी है मेरी सरकार

चिदम्बरम से जुड़े मामले की जाँच कर रहे हैं राजेश्वर

0 22

सुब्रमण्यम स्वामी के बारे में सभी लोग जानते हैं कि वह अपने बयानों की वजह से आए दिन चर्चा में बने रहते हैं। जब सबकुछ ठीक चल रहा होता है तो वह कुछ ना कुछ ऐसा बोल देते हैं, जिसकी वजह से पार्टी में और देश में हलचल मच जाती है। हाल ही में उन्होंने कुछ ऐसा ही किया है। सीबीआई में जारी घमासान के बीच भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा है कि सीबीआई के बाद अगला नम्बर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अधिकारियों का होगा।

ट्वीट में साधा सरकार पर निशाना:

स्वामी

उन्होंने कहा कि अगर ऐसा होता है तो भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ उनकी लड़ाई ख़त्म हो जाएगी। बता दें राज्यसभा में भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने बुधवार को दावा किया कि CBI नरसंहार में शामिल लोग प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारी राजेश्वर सिंह को निलम्बित करने वाले हैं। अगर ऐसा होता है तो उन्होंने जो भ्रष्टाचार के मामले दायर कर रखीं हैं, उनसे वह हट जाएँगे। इस मामले में स्वामी ने ट्वीट किया है। आपकी जानकारी के लिए बता दें ट्वीट में उन्होंने अपनी ही सरकार के ख़िलाफ़ निशाना भी साधा।

चिदम्बरम से जुड़े मामले की जाँच कर रहे हैं राजेश्वर:

स्वामी ने अपने ट्वीट में कहा है कि, ‘सीबीआई नरसंहार के खिलाड़ी ईडी के राजेश्वर को निलंबित करने वाले हैं, ताकि वह ‘पीसी’ के खिलाफ चार्जशीट दाखिल नहीं कर सकें। अगर ऐसा हुआ तो मेरे लिए भ्रष्टाचार से लड़ने की कोई वजह नहीं रहेगी, क्योंकि मेरी सरकार उन्हें बचाने पर तुली है। ऐसे में मैंने भ्रष्टाचार के जो मामले दायर किए हैं उन सभी से हट जाऊंगा।’ बता दें स्वामी अक्सर ही पूर्व वित्तमंत्री पी. चिदम्बरम को पीसी कहते हैं। ईडी अधिकारी राजेश्वर सिंह चिदम्बरम से कथित रूप से जुड़े भ्रष्टाचार के मामलों की जाँच कर रहे हैं।

घूस लेने के मामले में दर्ज की थी FIR:

बता दें पूर्व में चिदम्बरम और उनके बेटे कार्ति के ठिकानों पर कई बार ईडी छापेमारी भी कर चुकी है। सुब्रमण्यम स्वामी का यह ट्वीट ऐसे दिन आया है जब सीबीआई के दो शीर्ष अधिकारियों-निदेशक और विशेष निदेशक के बीच भ्रष्टाचार को लेकर आरोप-प्रत्यारोप से उत्पन्न संकट से पार पाने के लिए मोदी सरकार ने दोनों को अवकाश पर भेज दिया है। आपकी जानकारी के लिए बता दें सीबीआई ने राकेश अस्थाना और कई अन्य के खिलाफ कथित रूप से मीट कारोबारी मोइन कुरैशी की जांच से जुड़े सतीश साना नाम के व्यक्ति के मामले को रफा-दफा करने के लिए घूस लेने के आरोप में FIR दर्ज की थी।

गिरफ़्तार किया गया डीएसपी देवेंद्र कुमार को:

FIR दर्ज करने के एक दिन बाद डीएसपी देवेंद्र कुमार को गिरफ्तार किया गया। इस गिरफ्तारी के बाद मंगलवार को सीबीआई ने अस्थाना पर उगाही और फर्जीवाड़े का मामला भी दर्ज किया। सीबीआई के निदेशक आलोक वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के बीच छिड़ी इस जंग के बीच, केंद्र ने सतर्कता आयोग की सिफारिश पर दोनों अधिकारियों को छु्ट्टी पर भेज दिया। जॉइंट डायरेक्टर नागेश्वर राव को सीबीआई का अंतरिम निदेशक बना दिया गया। चार्ज लेने के साथ ही नागेश्वर राव ने मामले से जुड़े 13 अन्य अधिकारियों का ट्रांसफर कर दिया।


Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More