THE ADDA
THE ADDA: Hindi News, Latest News, Breaking News in Hindi, Viral Stories, Indian Political News

देशभर में 29 सितम्बर को मनाया जाएगा सर्जिकल स्ट्राइक डे, इंडिया गेट पर लगेगी हथियारों की प्रदर्शनी

पत्रों को प्रदर्शनी में किया जाएगा प्रदर्शित

4,928

अब से दो साल पहले की बात है, जब पाकिस्तानी आतंकियों और सेना ने मिलकर भारत के उरी में हमला किया था। इससे भारतीय सैनिकों का ग़ुस्सा सातवें आसमान पर पहुँच गया था। इसके बाद भारतीय सेना ने केंद्र सरकार के आदेश के बाद सीमा पार आतंकी ठिकानों पर सर्जिकल स्ट्राइक कर दिया। इसी उपलक्ष्य में केंद्र सरकार सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरी वर्षगाँठ पूरे जोश और उत्साह के साथ मना रही है। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने देशभर के विश्वविद्यालयों और उच्चतर शिक्षण संस्थानों को यह निर्देश जारी किया है कि 29 सितम्बर को सर्जिकल स्ट्राइक दिवस के तौर पर मनाया जाए।

29 सितम्बर को किया जाना चाहिए परेड का आयोजन:

बता दें आयोग ने यह दिवस मनाने के लिए सशस्त्र बालों के बलिदान के बारे में पूर्व सैनिकों से संवाद सत्र, विशेष परेड, प्रदर्शनियों का आयोजन और सशस्त्र बलों को अपना समर्थन देने के लिए उन्हें ग्रीटिंग कार्ड भेजने सहित कई अन्य गतिविधियाँ भी सुझाई हैं। जानकारी के अनुसार UGC ने सभी कुलपतियों को गुरुवार को भेजे गए एक पत्र में कहा है कि सभी विश्वविद्यालयों के एनसीसी इकाइयों को 29 सितम्बर को विशेष परेड का आयोजन करना चाहिए। जिसके बाद एनसीसी के कमांडर सरहद की रक्षा के तौर-तरीक़ों के बारे में उन्हें सम्बोधित करें।

देशभर के बच्चों से मिल रहे हैं सैनिकों की बहादुरी की प्रशंसा के पत्र:

surgical strike india

विश्वविद्यालय सशस्त्र बालों के बलिदान के बारे में छात्रों को बताए ताकि छात्रों में सशस्त्र सेनाओं के बलिदान के प्रति संवेदनशीलता बढ़े। UGC ने सुझाव दिया है कि विश्वविद्यालय पूर्व सैनिकों को शामिल करके सत्र का आयोजन भी कर सकते हैं। पत्र में कहा गया है कि, इंडिया गेट के पास 29 सितम्बर को एक मल्टीमीडिया प्रदर्शनी का आयोजन किया जाएगा। इसी तरह की प्रदर्शियों का आयोजन राज्यों, केंद्र शासित राज्यों, मुख्य शहरों, पूरे देश की छावनियों में किया जा सकता है। वहीं इस बारे में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि रक्षा मंत्रालय को देशभर के बच्चों से सैनिकों की बहादुरी की प्रशंसा में लिखे गए पत्र मिल रहे हैं।

पत्रों को प्रदर्शनी में किया जाएगा प्रदर्शित:

कई बच्चे पेंटिंग और पोस्टर बनाकर भी भेज रहे हैं। उन्होंने अभिवकों और अध्यापकों से अपील की है कि वह बच्चों को सैनिकों की बहादुरी के बारे में पत्र लिखने के लिए प्रेरित करें। रक्षा मंत्री ने कहा कि 27 सितम्बर से पहले मिले सभी पत्रों को सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरी वर्षगाँठ पर इंडिया गेट पर आयोजित की जानें वाली प्रदर्शनी में प्रदर्शित किया जाएगा। UGC का सुझाव है कि छात्रों को पत्र लिखकर और कार्ड के माध्यम से सशस्त्र सेनाओं के समर्थन की शपथ लेनी चाहिए। यह काग़ज़ और डिजिटल दोनों ही रूप में प्रस्तुत किए जाएँगे।

सर्जिकल स्ट्राइक में सेना ने मारे थे कई आतंकवादियों को:

surgical strike india

बता दें इन पत्रों और कार्ड को पीआरओ डिफ़ेन्स और पीआईबी से साझा किया जाएगा ताकि यह मीडिया के विभिन्न माध्यमों तक पहुँच सके। रक्षा मंत्रालय के अधिकारी के अनुसार भारतीय जवानों ने सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान जिन हथियारों का इस्तेमाल किया था, उन्हें जनता को दिखानें के लिए इंडिया गेट पर रखा जाएगा। सर्जिकल स्ट्राइक दिवस के सफल रूप से मनाने के लिए भारत सरकार के कई मंत्रालय मिलकर काम भी करेंगे। आपकी जानकारी के लिए बता दें 2 साल पहले 29 सितम्बर के दिन सीमापार आतंकी ठिकानों पर भारतीय सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक की थी। भारतीय सेना की सर्जिकल स्ट्राइक में कई आतंकवादी मारे गए थे।

हथियारों को प्रदर्शनी में रखा जाएगा, जिनका सेना ने किया था इस्तेमाल:

इस दिन को अब सरकार सर्जिकल स्ट्राइक दिवस के रूप में मना रही है। एक बड़े अधिकारी के अनुसार भारतीय जवानों ने सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान जिन हथियारों का इस्तेमाल आतंकियों का सफ़ाया करने में किया था, उन्हें भी इस दिन आम लोगों को दिखाया जाएगा। इसके साथ ही दुश्मनों ने जिन हथियारों का इस्तेमाल किया था, उन्हें भी प्रदर्शनी में रखा जाएगा। बता दें भारतीय जवानों ने सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान ट्रिवोर असाल्ट राइफ़ल का उपयोग किया था। यह राइफ़ल इज़रायल से मँगवाई गयी थी। इस राइफ़ल को फ़ुल ऑटोमेटिक या सेमी ऑटोमेटिक मोड पर लगाया जा सकता है।

सेल्फ़ी लेने पर बैकग्राउंड में दिखेगा इंडिया गेट:

surgical strike india

इस ऑपरेशन में भारतीय जवानों ने डिस्पोज़ेबल रॉकेट लॉंचर का भी इस्तेमाल किया था। इसमें रॉकेट लॉंचर को लॉंच करने के बाद ढोने की ज़रूरत नहीं पड़ती है। इसे रॉकेट लॉंचिंग के बाद फेंक दिया जाता है। यह सभी हथियार 29 सितम्बर को इंडिया गेट पर होने वाली प्रदर्शनी में आम लोगों को देखने के लिए रखे जाएँगे। जानकारी के अनुसार इस प्रदर्शनी के दौरान इंडिया गेट पर एक सेल्फ़ी प्वाइंट भी बनाया जाएगा। जहाँ पर देश के आम नागरिक भारतीय जवानों के उन हथियारों के साथ सेल्फ़ी ले सकेंगे, जिनके दम पर भारतीय सेना ने POK (Pakistan Occupide Kashmir) में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक ऑपरेशन को अंजाम दिया था। सेल्फ़ी प्वाइंट को इस तरह से बनाया जाएगा, जिसमें हर जगह से सेल्फ़ी लेने पर बैकग्राउंड में इंडिया गेट ही दिखाई देगा।

 


 

यह भी पढ़ें:-

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More