THE ADDA
THE ADDA: Hindi News, Latest News, Breaking News in Hindi, Viral Stories, Indian Political News

माधुरी दीक्षित से मिलने के लिए गेट से वापस बुलाया था अटल जी ने

ज़ायक़ेदार खाना देखकर ख़ुद को रोक नहीं पाते थे अटल जी

5,203
SHEIN -Your Online Fashion Jumpsuit

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी एक ऐसे व्यक्ति थे, जिन्होंने दुश्मनों के दिल में भी प्यार की लौ जलायी थी। इनका व्यक्तित्व ऐसा था कि जो भी इनसे एक बार मिल लेता था, इनका दीवाना हो जाता था। राजनीतिक जीवन में विपक्ष भी इनकी तारीफ़ करता था। इनके बारे में लोगों का कहना है कि भारत में आजतक इनके जैसा कोई प्रधानमंत्री नहीं हुआ था। इनका स्वभाव ही ऐसा था कि ये किसी भी बात को बहुत सहज रूप से कह जाते थे। अटल बिहारी वाजपेयी जहाँ भी जाते थे, कई क़िस्से और कहानियाँ ख़ुद ही इनके साथ जुड़ जाती थी। इनके जीवन के कई ऐसे क़िस्से हैं जो बहुत ही मज़ेदार हैं। कई क़िस्सों के बारे में तो आप जानते भी नहीं होंगे।

 

चुनावी मैदान में एक सिरे से नकार दिया जनता ने:

अटल बिहारी वाजपेयी की मौत के बाद इनसे जुड़े कई क़िस्से और कहानियाँ हमारे सामने आ चुकी हैं। अटल बिहारी वाजपेयी से जुड़ा हुआ एक क़िस्सा हाल ही में समता पार्टी की पूर्व अध्यक्ष जया जेटली ने शेयर किया है। यह बात तो आप सभी लोग जानते हैं कि राजनीति और बॉलीवुड का बहुत ही पुराना नाता रहा है। कई बॉलीवुड स्टार्स राजनीति के क्षेत्र में अपना हाथ आज़मा चुके हैं और लगातार कई स्टार्स आज़मा भी रहे हैं। इनमें से कई ने सफलता की सीढ़ियाँ चढ़ी तो कई को हार का सामना भी करना पड़ा। कई स्टार्स ऐसे हैं जिन्हें पर्दे पर दर्शकों ने ख़ूब पसंद किया, लेकिन चुनावी मैदान में एक सिरे से नकार दिया।

 

माधुरी दीक्षित को मिलने के लिए गेट से बुलाया था वापस:

जया जेटली ने हाल ही में एक तस्वीर ट्वीट की। यह तस्वीर उनकी बेटी अदिति और पूर्व क्रिकेटर अजय जडेजा की शादी की है। इस शादी समारोह में अटल बिहारी वाजपेयी और बॉलीवुड की बेहतरीन अदाकारा माधुरी दीक्षित ने शिरकत की थी। जया जेटली ने बताया कि शादी समारोह से जब माधुरी दीक्षित जाने लगी तो अटल जी ने उन्हें मिलने के लिए गेट से वापस बुलाया था। आपको बता दें अटल बिहारी वाजपेयी का माधुरी दीक्षित से जुड़ा एक अन्य वाक़या भी है। अटल जी के इस क़िस्से का ख़ुलासा किसी और ने नहीं बल्कि वरिष्ठ पत्रकार राशिद किदवई ने किया।

 

ज़ायक़ेदार खाना देखकर ख़ुद को रोक नहीं पाते थे अटल जी:

राशिद किदवई के अनुसार, एक ऑफ़िशियल लंच के दौरान अटल बिहारी वाजपेयी को ज़्यादा गुलाबजामुन खाने से रोकने के लिए उनके सहोगियों ने माधुरी दीक्षित का सहारा लिया था। अब आप सोच रहे होंगे कि सहोगियों ने आख़िर माधुरी दीक्षित का सहारा कैसे और क्यों लिया होगा? किदवई ने बताया कि लंच के दौरान अटल बिहारी वाजपेयी स्ट्रिक्ट डाइट पर थे। इसके बाद भी वो बार-बार खाने के काउंटर की तरफ़ जा रहे थे। आपकी जानकारी के लिए बता दें अटल बिहारी वाजपेयी खाने के बहुत ही शौक़ीन थे। अगर ज़ायक़ेदार खाना हो तो वह ख़ुद को रोक नहीं पाते थे।

 

SHEIN -Your Online Fashion Blouse

- Advertisement -

पिता समान मानती थी लता जी अटल बिहारी वाजपेयी को:

atal bihari vajpayee

अटल बिहारी वाजपेयी के निधन से केवल राजनीतिक जगत में दुःख का माहौल नहीं है बल्कि फ़िल्मी जगत भी इससे बहुत दुखी है। लता मंगेशकर ने लिखा है, “ऋषि तुल्य पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी जी के स्वर्गवास की बात सुनकर मुझे ऐसा लगा जैसे मेरे सिर पर कोई पहाड़ टूट गया हो। क्योंकि मैं अटल जी को अपने पिता के समान मानती थी। उन्होंने मुझे अपनी बेटी बनाया था। लता जी ने कहा कि, वो मुझे इतने प्रिय थे कि में उन्हें दद्दा कहकर बुलाती थी। आज मुझे ठीक वैसा ही दुःख हुआ है जैसे पिता की मृत्यु के समय हुआ था। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे।”

 

दूरदर्शी सोच के व्यक्ति थे अटल जी:

लता मंगेशकर ने आगे कहा कि, “मुझे ऐसा लगता है कि भारत से आज के साधु पुरुष चला गया। वो बहुत अच्छे लेखक और कवि थे। उनके भाषण सुनने के लिए लोग तरसते रहते थे। अटलजी के भाषण में सब सच होता था। वो एक बहुत सच्चे इंसान भी थे। कभी किसी का दिल नहीं दुखाया। वो हमेशा कोशिश करते थे कि सब ठीक रहे, ठीक हो। मैं उनको अपने पिता समान मानती थी।” वहीं प्रियंका ने अटल बिहारी वाजपेयी को याद करते हुए कहा कि, “अटल जी की दूरदर्शी सोच के व्यक्ति थे और देश के लिए उनका योगदान अतुलनीय है। देश उन्हें हमेशा याद रखेगा। उनके परिवार के लिए मेरी संवेदनाएँ हैं। भगवान उनकी आत्मा को शांति दें।

 

अपने योगदान की वजह से अमर हो गए अटल बिहारी वाजपेयी:

atal bihari vajpayee

आपको बता दें अटल जी 93 वर्ष की आयु में एक लम्बी बीमारी की वजह से 16 अगस्त 2018 को इस दुनिया से चले गए। 2009 से इनकी हालत काफ़ी ख़राब थी और वो व्हीलचेयर पर थे। आख़िरी समय में इनकी हालत इतनी ज़्यादा ख़राब हो गयी थी कि ये किसी को पहचान भी नहीं पाते थे। ये डिमेंशिया जैसी घातक बीमारी के शिकार भी हो गए थे। इस वजह से यह कोई भी चीज़ बहुत जल्दी भूल जाते थे। अटल जी अब इस दुनिया में नहीं रहे, लेकिन उनके द्वारा किए गए कामों की वजह से उन्हें देश हमेशा याद रखेगा। अटल जी समाज में अपने योगदान की वजह से अमर हो गए हैं।

 


इसे भी पढ़ें:

 

 

 

 

Loading...
Loading...

- Advertisement -

SHEIN -Your Online Fashion Blouse

- Advertisement -

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More